मेरठ, विवेक राव। दो साल में कोविड आपदा के चलते बहुत सारे युवाओं के सामने रोजगार की चुनौती रही है। वहीं, इस आपदा में कई युवाओं ने नए अवसर भी तलाश किए। शहर में लोगों को वाहनों की होम सर्विस देने के लिए मेरठ के तुषार अरोड़ा ने एक्ट्रामाइल स्टार्टअप तैयार किया। उनके स्टार्टअप से कई युवा जुड़े हैं। शहर में काफी लोग घर पर अपनी बाइक और कार की सर्विस करा रहे हैं।

कोरोना काल में वाहनों की सर्विस कराने में आई थी समस्‍या 

कोविड के दौरान बाजार पूरी तरह से बंद हुए तो लोगों को बाइक और कार सर्विस कराने की समस्या भी आई। इस समस्या ने तुषार और उनकी टीम को कुछ अलग करने के लिए प्रेरित किया। उन्होंने अगस्त-2020 में स्टार्टअप शुरू किया। इसमें मोटर मैकेनिक लोगों के घर जाकर वाहनों की सर्विस करते हैं। अभी वेबसाइट के माध्यम से लोग सर्विस के लिए संपर्क करते हैं। तुषार इसका मोबाइल एप भी तैयार कर रहे हैं। शहर में 2400 से अधिक लोग इस स्टार्टअप से जुड़कर अपने वाहनों की नियमित सर्विस करा रहे हैं। सैन्य क्षेत्र में होम सर्विस की सबसे अधिक मांग है।

सर्टिफाइड मैकेनिक करते हैं काम

बकौल तुषार, तमाम लोग व्यस्त शेड्यूल के चलते मैकेनिक या सर्विस सेंटर पर नहीं जा पाते। ऐसे में उनकी सर्विस में देरी हो जाती है। इसका प्रभाव वाहन पर भी पड़ता है। इसी के चलते लोग होम सर्विस को सुविधाजनक मान रहे हैं। उनके साथ शहर के सर्टिफाइड मैकेनिक जुड़े हैं। जो अलग-अलग शोरूम में लंबे समय तक काम कर चुके हैं। सर्विस के लिए जो लोग फोन करते हैं, उनसे गाड़ी के माडल, समस्या आदि की पूरी जानकारी लेते हैं। इसके बाद उनकी जरूरत और समय के अनुसार मैकेनिक को भेजा जाता है। बाइक के लिए 250 से 350 रुपये और कार के लिए 600 से 1000 रुपये सर्विस चार्ज है। इसमें वाहन की प्रेशर से धुलाई, पालिश और वैक्यूम भी शामिल है।

स्टार्टअप से जुड़े आठ युवक

बीबीए करने के बाद 10 साल आटोमोबाइल सेक्टर में काम करने वाले तुषार के स्टार्टअप से आठ युवा जुड़े हैं। स्टार्टअप को आगे बढ़ाने के लिए तुषार और उनकी टीम के सदस्य एमआइईटी में चल रहे इनक्यूबेशन फोरम से भी जुड़े हैं। इसके माध्यम से वे स्टार्टअप को आगे बढ़ा रहे हैं।

 

Edited By: Prem Dutt Bhatt