मुजफ्फरनगर, जेएनएन। नई मंडी कोतवाली अंतर्गत माल रोड स्थित कालकी हाइड्रो एंड केमिकल फैक्ट्री में गैस रिसाव होने के कारण आसपास के रिहाइशी इलाके में अफरा-तफरी मच गई। दर्जनों लोगों को जब सांस लेने में परेशानी हुई तो उन्होंने पुलिस को जानकारी दी। दमकलकर्मी देर रात तक पानी डालकर गैस रिसाव पर काबू पाने में जुटे रहे। यहां कालोनियों में रह रहे कुछ लोग दूसरी कालोनियों में रिश्तेदारों के यहां चले गए। इस दौरान फैक्ट्री मालिक मौके पर नहीं पहुंचे।

नई मंडी और रेलवे रोड के आसपास रहने वाले लोगों को हुई सांस लेने में तकलीफ

कालकी हाइड्रो एंड केमिकल फैक्ट्री में गुड़ और शक्कर में मिलाने वाला केमिकल तैयार किया जाता है। बुधवार देर शाम केमिकल से भरे ड्रम से हाइड्रो गैस का रिसाव शुरू हो गया, जिससे नई मंडी व रेलवे रोड के आसपास रहने वाले लोगों को सांस लेने में तकलीफ और नाक में जलन शुरू हो गई। कुछ लोग घरों से बाहर निकल आए। पुलिस भी पहुंची और लोगों को घरों के अंदर भेजा। उनसे खिड़की दरवाजे बंद रखने को कहा गया।

दमकल विभाग की दो गाड़ी लेकर मौके पर पहुंचे सीएफओ

जानकारी मिलते ही सीएफओ रमाशंकर तिवारी दमकल विभाग की दो गाड़ी लेकर मौके पर पहुंचे और स्थिति को कंट्रोल करने का प्रयास शुरू कर दिया। अंदर भरे केमिकल के ड्रमों में पानी डालना शुरू किया। इस दौरान दमकलकर्मियों को भी सांस लेने में परेशानी हुई। सीएफओ का कहना है कि फैक्ट्री में बनाए जा रहे केमिकल में पानी मिलने से हाइड्रो गैस उत्पन्न हुई। जिससे लोगों को सांस लेने में तकलीफ हुई। 

20 साल से रिहायशी इलाके में चल रही है फैक्ट्री

सीएफओ ने बताया कि यह फैक्ट्री पिछले 20 सालों से रिहायशी इलाके में चल रही है। जिसमें गुड़ व शक्कर में मिलाने का केमिकल तैयार किया जाता है। बताया कि गैस रिसाव होने की जानकारी मिलने के बाद भी फैक्ट्री मालिक मौके पर नहीं पहुंचे। उनसे संपर्क भी नहीं हो पाया। समाचार लिखे जाने तक रिसाव पूरी तरह बंद नहीं हुआ था और पानी डालकर केमिकल से भरे ड्रम भी बाहर निकाले जा रहे थे। रिसाव के कारण कुछ लोगों को ज्यादा दिक्कत होने पर वे दूसरी कालोनियों में अपने रिश्तेदार व परिचितों के घर चले गए।  

Edited By: Taruna Tayal