मेरठ, जेएनएन। मेडिकल इमरजेंसी में दोपहर बाद सवा दो बजे गैस लीक होने से अफरा-तफरी मच गई। तेज गंध से कई मरीजों को उल्टी होने लगी। मेडिकल स्टाफ ने भी उल्टी और बेचैनी की शिकायत की। इसी बीच फायर विभाग को फोन कर सूचित किया गया। आधा दर्जन स्टाफ ने इमरजेंसी में पहुंचकर 30 मिनट तक गैस लीक होने की पड़ताल की।
थोड़ी देर तक रहा गैस का असर
नाक में मास्क लगाकर स्टाफ ने सभी फायर सिलेंडरों को बंद कर दिया। इसके बाद गंध कम हुई। एक महिला के बेहोश होने की भी चर्चा रही। पुलिस और फायर विभाग की टीम ने एक सिलेंडर को वार्ड के बाहर रखवाया। प्रमुख चिकित्सा अधीक्षक डॉ. राकेश दुबे ने भी पड़ताल की। उन्होंने बताया कि किसी मरीज की तबीयत चिंताजनक नहीं है। थोड़ी देर के लिए इमरजेंसी वार्ड के सभी लोगों में गैस का असर रहा, फिर सब सामान्‍य हो गया। इन सिलेंडरों में कार्बन डाई ऑक्साइड भरी होती है इसीलिए मरीजों को उल्टी और बेचैनी हुई।

Posted By: Ashu Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस