मेरठ, जागरण संवाददाता। एसटीएफ (स्पेशल टास्क फोर्स) और दिल्ली की स्पेशल सेल के संयुक्त आपरेशन में सनी काकरान के साथी संदीप को दिल्ली से मुठभेड़ के बाद गिरफ्तार कर लिया गया। दोनों तरफ से हुई फायरिंग में संदीप के पैर में गोली लगी। उसे दिल्ली के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया है। आरोप है कि मेरठ के प्रयाग चौधरी की हत्या करने के बाद संदीप दिल्ली में जा छिपा था।

बुधवार सुबह हुई मुठभेड़

एसटीएफ एएसपी ब्रिजेश सिंह ने बताया कि बुधवार की सुबह पांच बजे पॉकेट बी/4 पॉकेट 13 शनि बाजार जिंग नरेला औद्योगिक क्षेत्र दिल्ली में मुठभेड़ के दौरान गैंगस्टर संदीप उर्फ बसी पुत्र विनय यादव निवासी अंडर 65 विजय नगर नरेला दिल्ली को गिरफ्तार कर लिया। संदीप बसी पहले गोगी और हाल में दीपक बाक्सर गैंग में काम करता था। सनी काकरान और अतुल के साथ मिलकर उसने शुक्रवार को कंकरखेड़ा के पावली खुर्द में एलएलबी के छात्र प्रयाग चौधरी की हत्या कर थी।

पुलिस पर की फायरिंग

एएसपी ने बताया कि संदीप उर्फ बसी नरेला से बाइक पर एनएच वन की तरफ जा रहा था। पुलिस ने उसे रुकने का इशारा किया, लेकिन रुकने के बजाय उसने बाइक गिरा दी और पुलिस टीम के सदस्यों पर तीन राउंड फायरिंग की। टीम के सदस्यों ने आत्मरक्षा में फायरिंग भी की, जिसमें संदीप के दाहिने पैर में गोली लग गई। उसे घायल अवस्था में राजा हरीश चंदर अस्पताल में भर्ती कराया। संदीप उर्फ बसी के पास से .30 की एक सेमी-ऑटोमैटिक पिस्टल और तीन जिंदा कारतूस बरामद किए गए हैं।

संदीप की आपराधिक हिस्ट्री

प्रयाग चौधरी हत्‍याकांड के अलावा संदीप उर्फ बसी पांच अन्‍य जघन्य अपराधों में भी फरार था। इस  हत्याकांड के अलावा लूट के तीन पेट्रोल पंप डकैती सहित पुलिस पर हमला और फायरिंग और एक कैब चालक और कार के अपहरण में शामिल था। एक महीने के दौरान उसने यूपी, उत्तराखंड और हरियाणा राज्यों में भी वारदात को अंजाम दिया।

Edited By: Parveen Vashishta