मेरठ, जेएनएन। पांच साल पहले दोस्ती की। फिर प्यार का इजहार कर शादी करने का वादा किया। शादी का झांसा देकर पांच साल तक युवती से दुष्कर्म किया। जब भी युवती शादी को कहती, तभी आरोपित उसको पीटता और जातिसूचक शब्द कहता। पीड़िता ने प्रेमी, उसके माता-पिता और पत्नी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है। इसकी जांच सीओ दौराला ने शुरू कर दी है।

कंकरखेड़ा थाना क्षेत्र निवासी एक युवती ने गुरुवार को दर्ज कराई रिपोर्ट में बताया कि 2016 में वह हापुड़ रोड स्थित एक अस्पताल में नौकरी करती थी। वहीं पर खरखौदा के फफूंडा गांव निवासी रोहित प्रधान से जान-पहचान हो गई। रोहित वर्तमान में शास्त्रीनगर एल ब्लाक में रहता है। रोहित ने उससे दोस्ती की और फिर प्यार का इजहार किया। आरोप है कि एक दिन रोहित युवती को तक्षशिला कालोनी में अपने दोस्त के घर में ले गया और नशीली कोल्डड्रिक पिलाकर उसके साथ दुष्कर्म किया। एक होटल में भी ले जाकर दुष्कर्म किया। रोहित युवती को झूठी पत्नी बनाकर बंगलुरू भी ले गया। वहां दोस्त के घर में रखा। शादी की जिद की तो आरोपित उसे मेरठ लाया और मोदीपुरम स्थित एक सोसायटी में किराये के मकान में रखा। यहां भी युवती को रोहित ने पत्नी बता रखा था। 2018 में उसका जबरन गर्भपात भी कराया गया।

युवती रोहित के एल ब्लाक स्थित घर पर पहुंची, जहां पता चला कि वह पहले से शादीशुदा है। आरोप है कि रोहित और उसके स्वजन ने उसको पीटा व जातिसूचक शब्द कहकर भगा दिया। अब युवती को धमकी मिल रही है। पुलिस ने मुख्य आरोपित रोहित प्रधान के खिलाफ दुष्कर्म व जातिसूचक शब्द कहने और सुरेंद्र पाल गुर्जर, दीपा प्रधान, ब्रिजेश और रोबिन प्रधान के खिलाफ जातिसूचक शब्द के आरोप में केस दर्ज किया है। इंस्पेक्टर तपेश्वर सागर का कहना है कि युवती के बयान दर्ज करने के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021