मेरठ, जेएनएन। बुधवार देर रात जिले में दो जगह हुई मुठभेड़ में पुलिस ने चार गोकश गिरफ्तार कर लिए। एक गोली लगने से घायल हो गया। उसे जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पकड़े गए आरोपितों ने कुछ दिन पहले परतापुर क्षेत्र में गोवध की घटना को अंजाम दिया था। परतापुर थाना पुलिस को बुधवार रात सूचना मिली कि कुछ गोकश क्षेत्र में बेसहारा पशुओं की तलाश में घूम रहे हैं। इस पर परतापुर थाना प्रभारी एएसपी कृष्ण विश्नोई टीम के साथ मोहिउद्दीनपुर-सिवाल मार्ग पर पहुंच गए। दो बाइक पर आ रहे चार युवकों को पुलिस ने रोकने का प्रयास किया तो उन्होंने फायरिग कर दी। जवाबी कार्रवाई में पुलिस ने तीन आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया। आरोपितों के नाम खुशी मोहम्मद निवासी अहमदनगर, रिजवान निवासी समर गार्डन और नदीम निवासी अंजुम पैलेस लिसाड़ी गेट हैं। उनके कब्जे से दो तमंचे, दो कारतूस, एक खोखा और गोवध में इस्तेमाल होने वाले हथियार बरामद किए हैं। गौरतलब है कि पकड़े गए आरोपितों ने ही गत 23 अक्टूबर को क्षेत्र में गोवध की घटना को अंजाम दिया था।

परतापुर से भागा, कंकरखेड़ा में पकड़ा गया

परतापुर में मुठभेड़ के दौरान एक आरोपित के फरार होने पर कंट्रोल रूम को सूचना फ्लैश कर दी गई थी। इसके बाद सभी थानों की पुलिस अलर्ट हो गई। कंकरखेड़ा थाना प्रभारी तपेश्वर सागर फोर्स के साथ खिर्वा रोड पर चेकिग के लिए पहुंच गए। तभी एक व्यक्ति स्कूटी पर आता दिखाई दिया। उसको रोकने का प्रयास किया तो उसने टीम पर फायरिग कर दी। जवाबी कार्रवाई में पुलिस की गोली उसके पैर में लगी। उसकी पहचान सनव्वर निवासी समर गार्डन साठ फुटा एक मीनार मस्जिद लिसाड़ी गेट के रूप में हुई। उससे एक तमंचा, कारतूस और बिना नंबर की स्कूटी बरामद हुई। आरोपित पर कई मुकदमें दर्ज हैं। वह परतापुर से भी वांछित चल रहा था।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस