मेरठ, जेएनएन। कंकरखेड़ा थाना क्षेत्र में हाईवे स्थित संस्कृति रिसोर्ट के सामने शुक्रवार रात ड्यूटी से घर लौट रहे बाइक सवार वन दारोगा की सड़क हादसे में मौत हो गई। सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची और शव मर्चरी पहुंचाया। वहीं वाहनों को निकालकर जाम खुलवाया। वन विभाग के सीनियर इंस्पेक्टर ने थाने में तहरीर दी है। सरधना थाना क्षेत्र के गांव खिवाई के मूल निवासी 41 वर्षीय धर्मवीर पुत्र पलटू वन विभाग में दारोगा थे। वे अपनी पत्नी रेखा, बेटा गौरव, बेटी सोनम और शालू के साथ कंकरखेड़ा की डिफेंस कालोनी में रहते थे। बताया जाता है कि संजय वन स्थित दफ्तर में धर्मवीर बैठते थे, मगर उनकी तैनाती रोहटा और जानी रेंज में थी। शुक्रवार रात करीब आठ बजे ड्यूटी से बाइक सेधर्मवीर अपने घर कंकरखेड़ा जा रहे थे कि बड़ौत रोड पर हाईवे फ्लाईओवर के पास स्थित संस्कृति रिसोर्ट के पास पहुंचते ही टेंपो ने धर्मवीर की बाइक में टक्कर मार दी। अनियंत्रित हो धर्मवीर सड़क पर गिरे, तभी पीछे से आ रही क्रेन की चपेट में आने पर धर्मवीर की मौके पर ही मौत हो गई। चालक टेंपो को लेकर फरार हो गया, जबकि क्रेन का चालक क्रेन को छोड़ भाग गया। हादसे के राहगीरों की भीड़ जमा हो गई। हाईवे पर जाम लग गया। सूचना पर पुलिस मौके पहुंची और मृतक की जेब से निकले आईकार्ड व मोबाइल की कॉल डिटेल के आधार पर वन विभाग के अधिकारी और परिजनों को सूचना दी गई। पुलिस ने शव मोर्चरी पहुंचाकर जाम खुलवाया। मेरे पापा को ला दो.. हादसे की सूचना पाते ही मृतक की पत्नी रेखा दहाड़े मारकर रो रोते हुए बोली कि मेरे पति को ला दो। मैं उनके बिना नहीं जी सकती। मां को देख तीनों बच्चे भी अपने पापा को लाने को कह रहे थे। जिन्हें देख सभी की आंखें नम हो गई। किरायेदार और पड़ोसियों ने किसी तरह संभाला। इनका कहना है सड़क हादसे में वन दारोगा की मौत हुई है। क्रेन कब्जे में है। वन विभाग के सीनियर इंस्पेक्टर सुनील शर्मा की तहरीर पर कार्रवाई की जा रही है। आरोपित पकड़ा जाएगा। -बीके राणा, इंस्पेक्टर, कंकरखेड़ा।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस