मेरठ (जेएनएन)। टीपीनगर क्षेत्र के रघुकुल विहार में व्यापारी विनीत अरोड़ा ने पूरे परिवार के साथ आत्महत्या कर ली। स्पेयर पाट्र्स और ऑयल फिल्टर के डिस्ट्रीब्यूटर विनीत ने सुसाइड नोट में मौत की राह चुनने की वजह 1.57 करोड़ की देनदारी को बतायी है। शुक्रवार सुबह घर पहुंचे विनीत के कारीगर के कई बार कॉल बेल बजाने पर भी दरवाजा नहीं खुला तो उसने फोन किया। कोई जवाब न मिलने पर उसके बताने पर पड़ोसी अनुज और अमित ने छत पर जाकर झांका तो उनकी चीख निकल गई।

यह भी पढ़ें- मेरठ में आपत्तिजनक हालत में मिले 20 युवक-युवतियां

विनीत अरोड़ा, पत्नी पूजा अरोड़ा, मां कृष्णा अरोड़ा और 16 साल का बेटा अभिषेक जाल से बंधे फांसी के फंदे पर झूल रहे थे। पुलिस दरवाजा तोड़कर अंदर गयी तो एक कमरे में विनीत के पिता श्रीमोहन अरोड़ा बिस्तर पर मृत पड़े थे। हाथ की नस कटी हुई थी। बोतल में जहर था। पुलिस सुसाइड नोट के अलावा भी कई बिंदुओं पर जांच कर रही है। पास मिले सुसाइड नोट में विनीत ने व्यापार में घाटा और 1 करोड़ 57 लाख रुपये की देनदारी होने के साक्ष्य दिए हैं। आइजी अजय आनंद और एसएसपी जे रविंदर गौड ने बताया कि विनीत के पिता ने जहर खाकर और हाथ की नस काटकर जान दी, बाकी चारों ने छत के जाल से रस्सी बांधकर लटकायी और नीचे कुर्सी रखकर फंदे पर झूल गए।

यह भी पढ़ें- वेस्ट यूपी का हार्ड कोर क्रिमिनल मोनू जाट एनकाउंटर के बाद गिरफ्तार

रोज की तरह जब परिवार सुबह नहीं दिखा तो आसपास के लोगों ने घंटी बजाना शुरू किया। इसके बाद भी कोई हरकत न होने पर झांक कर देखा तो अंदर कमरे में व्यवसायी विनीत अरोड़ा के पिता मोहन अरोड़ा बेड पर गिरे पड़े थे। इसके बाद लोगों ने पुलिस को इस मामले की सूचना दी। पुलिस ने दरवाजा तोड़ा तो व्यापारी के पिता मृत पड़े थे। अंदर जाकर देखा तो चार गुणे चार जाल से व्यापारी विनीत अरोड़ा, उसकी पत्नी पूजा अरोड़ा, मां कृष्णा अरोड़ा और विनीत का 13 साल का बेटा अभिषेक झूल रहे थे। इन सभी ने फांसी पर लटकने से पहले अपने हाथ की नस भी काटी थी। घर में फर्श पर चारों ओर खून फैला पड़ा है। आइजी के बाद एसएसपी जे रविन्द्र गौड़ भी मौके पर पहुंचे हैं।

यह भी पढ़ें- दहेज उत्पीड़न पर बोले नवाजुद्दीन: सेलिब्रिटी हूं, इसीलिए लगाया आरोप

विनीत का पिता मोहन अरोड़ा के साथ स्पेयर पार्टस का काम है, यह लोग होलसेल डीलर भी हैं। आत्महत्या के कारणों का अभी खुलासा नहीं हो सका है। पुलिस जांच में जुटी है। पुलिस ने पूरे परिवार के इस कदम के पीछे घर की माली हालत ख़राब होना बताया है, हालांकि अभी भी पुलिस जांच की बात कर रही है। शवों के पास तीन सुसाइड नोट मिले हैं जिसमें काफी क़र्ज़ होने की बात कही गई है। पूरे परिवार ने आत्महत्या करने से पहले घर में हवन-पूजन किया था।

विनीत ने सुसाइड नोट में अपने ऊपर बढ़ चुकी देनदारी को कारण बताया है और लिखा है कि वे इस कर्ज को लौटा पाने की स्थिति में नहीं हैं, इसलिए पूरा परिवार मौत को गले लगा रहा है। व्यापारी ने अपने ऊपर एक करोड़ 57 लाख की देनदारी की बात लिखी और साक्ष्य भी छोड़े हैं।पुलिस ने शव को कब्जे में ले लिया है और पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। सुसाइड नोट मिलने के बाद पुलिस अन्य पहलुओं पर भी जांच कर रही है।

पिता ने जहर खाया, नस काटी और बाकी चार एक साथ झूले

व्यापारी विनीत के पिता ने जहर खाकर और अपने हाथ की नस काटकर जान दी, जबकि विनीत अपनी पत्नी, बेटे और मां के साथ छत की जाल से झूल गया। परिवार के चारों लोगों ने छत की जाल से रस्सी बांधी। नीचे उन्होंने कुर्सी रखी और फंदा लगा लिया। इसके बाद सभी ने पांव से मारकर कुर्सियां गिरा दीं और फंदे पर झूल गए। पुलिस ने इसी अवस्था में उन्हें फंदे से उतारा।

Posted By: Dharmendra Pandey

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप