मेरठ, जेएनएन। NCRTC द्वारा बनाए जा रहे रीजनल रैपिड ट्रांजिट सिस्टम (RRTS) के पहले डिपो का निर्माण दुहाई, गाजियाबाद में आकार लेने लगा है। दुहाई डिपो में 12 RRTS ट्रेनों को खड़ी करने की क्षमता होगी। इसके अलावा, स्टैंडर्ड गैज की तीन इन्सपैक्शन बे लाइनों और दो वर्कशॉप लाइनों के साथ-साथ लगभग एक किमी की रनिंग टेस्ट ट्रैक भी होगा। RRTS ट्रेनों को रात भर डिपो में रखा जाएगा, जहां उनके रखरखाव, सफाई, मरम्मत आदि की व्यवस्था होगी।

दुहाई डिपो में ट्रेनों के उच्चस्तरीय रख-रखाव सहित निम्नलिखित सुविधाएं होंगी

  • ट्रेन सेट्स की सामयिक रखरखाव की सुविधा
  • गाड़ियों की समुचित सफाई के लिए एक स्वचालित ट्रेन वाशिंग प्लांट
  • एडमिनिस्ट्रेटिव बिल्डिंग, डिपो कंट्रोल सेंटर (डीसीसी), बैकअप ऑपरेशनल कंट्रोल सेंटर, इंजीनियरिंग ट्रेन यूनिट (ईटीयू), एफ्लूएंट व सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट्स।
  • प्रशिक्षण और प्रारम्भिक परिचय के उद्देश्य से ट्रेन सिमुलेटर सहित चालक प्रशिक्षण सुविधा।
  • एनसीआरटीसी द्वारा अधिकृत जमीन पर डिपो निर्माण की गतिविधियां शुरू की गई हैं। शेष जमीन के अधिग्रहण का काम भी प्रगति पर है और यह जल्द ही पूरा हो जाएगा।

मोदीपुरम में भी बनेगा डिपो

इस कॉरिडोर के कुछ ट्रेन सेट्स को आगामी मोदीपुरम डिपो, मेरठ में खड़ा करने की व्यवस्था की जाएगी। इसके अलावा दिल्ली के जंगपुरा में एक स्टैब्लिंग यार्ड का निर्माण भी किया जा रहा है, जो आरआरटीएस के तीनों कॉरिडोर को अपनी सेवाएं प्रदान करेगा।

तेजी से चल रहा है कार्य

आरआरटीएस के 82 किलोमीटर लंबे संपूर्ण कॉरिडोर पर तेजी से काम चल रहा है। 17 किलोमीटर लंबे साहिबाबाद से दुहाई प्राथमिकता वाले पूरे खंड पर तेज गति से निर्माण कार्य हो रहा है। इस खंड के चारों स्टेशन गाजियाबाद, साहिबाबाद, दुहाई और गुलधर के फाउंडेशन का कार्य पूरा किया जा चुका है। दुहाई से शताब्दी नगर लगभग 8 किलोमीटर से ज्यादा खंड पर भी फाउंडेशन का कार्य पूरा कर लिया गया है और 40 पिलर खड़े किए जा चुके हैं।

शताब्दी नगर से मोदीपुरम खंड पर भी एलिवेटेड सेक्शन में फाउंडेशन का काम न्यू शंभू नगर के पास चल रहा है। साथ ही यूटिलिटी डायवर्जन का कार्य भी प्रगति पर है। सराय काले खाँ से साहिबाबाद के इस 4.3 किमी के एलिवेटेड सेक्शन पर दिल्ली में न्यू अशोक नगर के पास आरआरटीएस वायाडक्ट के लिए फाउंडेशन का काम चल रहा है। इस खंड में सराय काले खां आरआरटीएस स्टेशन से न्यू अशोक नगर डाउन रैंप तक एक वायाडक्ट का निर्माण होगा, जिसमें जंगपुरा में एंट्री रैंप से स्टैब्लिंग यार्ड, जंगपुरा भी शामिल है। इसमें इसमें यमुना नदी पर एक पुल समेत सराय काले खां और न्यू अशोक नगर नामक दो एलिवेटेड आरआरटीएस स्टेशनों का भी निर्माण किया जाएगा। 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021