मेरठ, जागरण संवाददाता। बुधवार देर रात आबूलेन पर चाय के खोखे में आग लग गई। सूचना पर व्यापारी एकत्र हो गए। अफरा-तफरी के बीच अचानक सिलेंडर फट गया। कई व्यापारी चपेट में आने से बच गए। हादसे के बाद एक होटल खाली हो गया था।

यह है मामला

सदर बाजार थाना क्षेत्र के आबूलेन पर करनेल होटल के सामने अमृत होटल के बराबर में मंजू का चाय का खोखा है। बुधवार देर रात को मंजू का बेटा दुकान बंद कर घर जाने की तैयारी कर रहे थे। तभी दुकान में आग लग गई। लपटें देख व्यापारी नेता राजबीर ने कंट्रोल रूम को सूचना दी। जानकारी पर आबूलेन व्यापार संघ के अध्यक्ष सरदार नरेंद्र, जीतूनागपाल और अन्य लोग आग बुझाने का प्रयास करने लगे। तभी धमाके से खोखे में रखा एक सिलेंडर फट गया, जिसकी चपेट में आने से सरदार नरेंद्र, जीतू सिंह नागपाल, रमनदीप और खोखे पर काम करने वाले गणेश बच गए। दस मिनट में ही दमकल की दो गाड़ी पहुंच गई थी। करीब एक घंटे की मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया गया। एएसपी चंद्रकांत मीणा भी पहुंच गए थे। थाना प्रभारी ने बताया कि खोखे में दो बड़े सिलेंडर और दो छोटे सिलेंडर थे। एक बड़ा सिलेंडर फट गया था। आग लगने के कारणों का पता लगाया जा रहा है। इस दौरान व्यापारी सोनी, सचिन, नितिन और रंजीत सिंह आदि मौजूद थे।

धमाके बाद मची भगदड़

खोखे में आग के दौरान अचानक एक सिलेंडर फट गया था। इससे भगदड़ मच गई थी। पास में मौजूद अमृत होटल पूरा खाली हो गया था, जबकि अन्य होटल का स्टाफ और रुके हुए लोग भी बाहर आ गए थे। धमाके के बाद कुछ सामान के कुछ टुकड़े तो सोतीगंज तक पहुंच गए थे। काफी दूर तक आवाज भी सुनी गई थी। 

Edited By: Taruna Tayal