बुलंदशहर, जागरण संवाददाता। सिकंदराबाद नगर क्षेत्र स्थित अनाजमंडी के आढ़ती व उसके पुत्र से फोन पर लाखों की रंगदारी मांगी गई है। रंगदारी न देने पर पीड़ितों को जान से मारने की धमकी दी गई है। 

यह है मामला 

नगर की अनाजमंडी निवासी प्रमोद कुमार सिंघल पुत्र कोशल कुमार ने बताया कि उनका आढ़त का काम है। करीब दो सप्ताह पूर्व उनके मोबाइल पर अज्ञात कालर की ओर दस लाख की रंगदारी की मांग की गई। रंगदारी नहीं देने पर जान से मारने की धमकी दी गयी। इसके बाद उनके पुत्र उज्जवल सिंघल के मोबाइल पर अज्ञात मोबाइल नंबर से साढ़े छह लाख की रंगदारी मांगी। नहीं देने पर जान से मारने की धमकी दी गई। 

आरोपितों की आवाज को पहचाना 

बताया कि उन्‍होंने वह और उनके पुत्र ने आरोपितों की आवाज को पहचान लिया है। आरोपितों के नाम श्यामवीर पुत्र प्रकाश निवासी कादराबाद ढूसरी थाना शिकारपुर, सुमित पुत्र नेत्रपाल व जयसिंह पुत्र रामचरन निवासीगण अवोना थाना पहासू, हीरा पुत्र किशनपाल सिंह निवासी ग्राम हुलसान थाना शिकारपुर व दिलशाद पुत्र रफीक निवासी मोहल्ला जवाहर मंडी कस्बा व थाना शिकारपुर हैं। इनके विरुद्ध नामजद मुकदमा दर्ज है। कोतवाली निरीक्षक अखिलेश त्रिपाठी ने बताया कि आरोपितों को गिरफ्तार कर पूछताछ की जा रही है। जल्द ही मामले का राजफाश कर दिया जाएगा।

यशोदा अस्पताल के संचालक पर दर्ज कराई रिपोर्ट

बुलंदशहर, जागरण संवाददाता। ईदगाह रोड स्थित यशोदा अस्पताल पर सील लगाने के बाद संचालन किए जाने पर एफआइआर दर्ज कराई गई है। झोलाछाप पर कार्रवाई को गठित टीम में शामिल सिटी मजिस्ट्रेट, सीओ और एसीएमओ बुधवार को ईदगाह रोड पर स्थित यशोदा अस्पताल पर पहुंचे थे। निरीक्षण में टीम को काफी अनियमितता मिली। इस पर टीम ने अस्पताल को सील करा दिया। अब शुक्रवार को एसीएमओ डा. बसंत राम की तहरीर पर कोतवाली नगर पुलिस ने कार्रवाई की है। इंडियन मेडिकल काउंसिल एक्ट 15(3) और आइपीसी की 175, 176, 420 धाराओं के तहत अस्पताल संचालक डा. नीरज कुमार पर एफआइआर दर्ज की है। 

Edited By: Parveen Vashishta