मेरठ, जेएनएन। किनौनी चीनी मिल के बकाया गन्ना मूल्य भुगतान को लेकर पूर्व ब्लाक प्रमुख बिजेंद्र के नेतृत्व में किसानों ने पांडव नगर स्थित गन्ना भवन में जिला गन्ना अधिकारी डा. दुष्यंत कुमार का घेराव किया। चीनी मिल के शुभारंभ से ठीक पहले गन्ना समिति स्तर पर होने वाली बैठक को वर्चुअल बुलाने पर किसानों ने कड़ा ऐतराज जताया। उन्होंने किसानों का अपमान बताया। बाद में गन्ना आयुक्त के नाम किसानों ने ज्ञापन सौंपा।

सचिव की सूचना का हुआ विरोध

किनौनी मलियाना गन्ना किसान संघर्ष समिति के अध्यक्ष व पूर्व ब्लाक प्रमुख बिजेंद्र ने बताया कि गन्ना समिति मलियाना के सचिव ने गन्ने के प्रतिनिधियों को 21 सितंबर को वर्चुअल बैठक के लिए बुलाया था। बिजेंद्र ने सवाल खड़ा किया कि जब वर्तमान में बाजारों में भीड़ है, गन्ना सट्टा प्रदर्शन के लिए मेले आयोजित हो रहे हैं। बड़ी-बड़ी राजनैतिक रैलियां आयोजित हो रही हैं। उस स्थिति में वर्चुअल बैठक बुलाने का क्या औचित्य है। उन्होंने इसे किसानों का अपमान बताया।

चार बिंदुओं पर सौंपा ज्ञापन

पूर्व ब्लाक प्रमुख बिजेंद्र ने किसानों की मांग को लेकर गन्ना आयुक्त लखनऊ के नाम चार सूत्रीय ज्ञापन जिला गन्ना अधिकारी को सौंपा। इसमें अविलंब गन्ना भुगतान, गन्ने का मूल्य 400 रुपये की घोषणा, समय से गन्ना भुगतान करने वाली चीनी मिलों को बांड ट्रांसफर व किसानों की कोई भी बैठक वर्चुअल न बुलाई जाए आदि विषय शामिल रहे।

ये रहे मौजूद

मोनू त्यागी, अमरपाल पुनिया, ओमेंद्र, धर्मेंद्र त्यागी, बबलू, सुशील शर्मा, बिट्टू, दुष्यंत कुमार, इंद्रपाल, सुरेंद्र सिंह, हरवीर सिंह, ओमवीर मलिक, हरेंद्र तेवतिया, राजीव, मोनू त्यागी, अरविंद, संजय बावरा, सुरेश प्रधान, सुरेश त्यागी, रोहताश सिंह, जय सिंह व प्रवीन आदि मौजूद रहे।

 

Edited By: Taruna Tayal