बिजनौर, जेएनएन। भारतीय किसान यूनियन के आह्वान पर किसानों ने सोमवार को बिलाई चीनी मिल पर बकाया गन्ना मूल्य भुगतान की मांग को लेकर धरना दिया। किसानों ने धरनास्थल पर पहुंचे एसडीएम सदर, डीसीओ और चीनी मिल अधिकारियों को दरी पर बैठा लिया। किसानों और अधिकारियों के बीच हुई वार्ता के बाद मिल प्रशासन ने 15 करोड़ का भुगतान करने और कमेटी की निगरानी में चीनी बिक्री किए जाने की बात तय हुई। इस पर यूनियन ने आंदोलन स्थगित कर दिया। भाकियू के मंडलाध्यक्ष दिगंबर ¨सह, जिला कुलदीप ¨सह के नेतृत्व में सोमवार को बड़ी संख्या किसान में बिलाई चीनी मिल पहुंचे। यहां यूनियन के तहसील अध्यक्ष प्रमोद कुमार की अध्यक्षता एवं जिला महासचिव सुनील प्रधान के संचालन में हुई बैठक में वक्ताओं ने कहा कि बकाया भुगतान ना होने की वजह से किसानों के सामने आर्थिक संकट खड़ा हो गया। किसानों ने धरनास्थल पर पहुंचे एसडीएम सदर विक्रमादित्य मलिक, डीसीओ यशपाल स‍िंह और चीनी मिल के जीएम केन जयवीर ¨सह को दरी पर बैठा लिया। करीब एक घंटे की जद्दोजहद के बाद मिल ने 15 करोड़ रुपये का मौके पर भुगतान किया, जबकि तीन जनवरी को 15 करोड, दस जनवरी को 23 करोड़ और 15 जनवरी को 22 करोड़ का भुगतान दिलाए जाने का भरोसा दिलाया। मिल प्रशासन ने एक जनवरी से किसानों को मैली देना शुरू करने के साथ-साथ कमेटी की निगरानी में चीनी बेचे जाने की बात कही। बैठक में तय किया गया, कि यदि मिल प्रशासन ने वादाखिलाफी की, तो चार जनवरी को पुन: मिल परिसर में धरना दिया जाएगा। इससे पहले किसानों ने मिल गेट के निकट लगी शहीद किसान की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया। धरने पर ब्लॉकाध्यक्ष नजीबाबाद कुलबीर ¨सह दर्शन ¨सह फौजी अतुल कुमार संदीप त्यागी जिब्रील अहमद विकार अहमद अंकित कुमार विजय पाल ¨सह हिमांशु छिल्लर, सुरपाल ¨सह, डालचंद प्रधान, उदयवीर ¨सह, जितेंद्र ¨सह, विनीत चौधरी, मग्धू ¨सह, पुष्पेंद्र ¨सह, सरमपाल ¨सह, नितिन सिरोही समेत बड़ी संख्या में किसान मौजूद थे।