बागपत, जेएनएन। संयुक्त किसान मोर्चा के आह्वान पर किसानों का ईस्टर्न पेरीफेरल एक्सप्रेस वे के मवीकलां बूथ पर 24 घंटे का धरना समाप्त हो गया। इसके बाद ईपीई पर वाहन फर्राटा भरने लगे। धरने के कारण दिल्ली-सहारनपुर नेशनल हाईवे पर भी जाम की स्थिति बनी।

कृषि कानून के विरोध में संयुक्त किसान मोर्चा के आह्वान पर शनिवार सुबह आठ बजे किसानों ने वेस्टर्न पेरीफेरल एक्सप्रेस वे को जाम किया था। ऐसे में भाकियू कार्यकर्ताओं ने 24 घंटे के लिए मवीकलां टोल बूथ पर धरना देकर जाम कर दिया था। घोषित 24 घंटे का समय रविवार सुबह आठ बजे पूरा हुआ तो कार्यकर्ता मवीकलां टोल बूथ से उठकर चले गए। धरने के दौरान मवीकलां टोल बूथों पर वाहनों की लंबी कतार लगी रही। इनमें अधिकांश ट्रक व लंबे रूट की बसें थीं। वाहनों की संख्या ईपीई पर बढऩे के कारण दिल्ली-सहारनपुर नेशनल हाईवे पर भी जाम की स्थिति बनी रही। जाम खुलवाने के लिए पाठशाला चौकी पुलिस चौराहे पर मुस्तैद रही।

Edited By: Taruna Tayal