मेरठ, जेएनएन। संपत्ति हड़पने की नीयत से दो बहनों ने लेखपाल के साथ मिलकर फर्जी रूप से वारिसान प्रमाण पत्र जारी करा लिया। मामले की जानकारी होने पर तीसरी बहन ने इस संबंध में जानकारी जुटाई और तमाम साक्ष्यों के साथ जिलाधिकारी से शिकायत कर कार्रवाई की मांग की है।

मेडिकल थाना क्षेत्र के प्रवेश विहार निवासी अनिता देवी ने जिलाधिकारी कार्यालय में दी शिकायत में बताया कि उसके पिता सुरेंद्र कुमार की 30 वर्ष पहले मृत्यु हो चुकी है। जबकि मां उर्मिला देवी का पिछले साल देहांत हो गया। अब मां का देहांत होने के बाद पीड़ित महिला की दो बहनों ने पैतृक संपत्ति हड़पने के लिए लेखपाल के साथ मिलकर फर्जी वारिसान प्रमाण पत्र जारी करा लिया। जिसकी जानकारी अनिता को कुछ दिन पहले हुई। पीड़ित महिला ने तमाम साक्ष्य जुटाए और इस संबंध में जिलाधिकारी कार्यालय में शिकायत की। पीड़ित महिला ने बताया कि कस्बा खरखौदा में उनकी पैतृक संपत्ति है, उसे हड़पने के लिए दोनों बहनों ने हल्का लेखपाल के साथ मिलकर फर्जी तथ्यों के आधार पर वारिसान प्रमाण पत्र जारी करा लिया। प्रमाण पत्र में मात्र दोनों बहनों के नाम ही लिखे गए हैं, जबकि अनिता का नाम प्रमाण पत्र से गायब है। पीड़ित ने बताया कि वह पांच भाई-बहन थे। तीन बहनें और दो भाई। दोनों भाई अविवाहित थे और उनकी मौत हो चुकी है। ऐसे में दोनों बहनें संपत्ति हड़पने के लिए जालसाजी कर रही हैं। पीड़ित ने जांच कराकर बहनों के साथ आरोपित लेखपाल पर भी कड़ी कार्रवाई करने की मांग की गई है।

Edited By: Jagran