मेरठ, जेएनएन। वायु प्रदूषण में घिरते एनसीआर की पड़ताल के लिए ईपीसीए (पर्यावरण प्रदूषण नियंत्रण प्राधिकरण) के चेयरैमन भूरेलाल रविवार को अचानक मुजफ्फरनगर के दौरे पर पहुंच गए। पेपरमिल इकाइयों से काला धुआं निकलता मिला, वहीं रजवाहों में विषाक्त कचरा भरा था। उद्योगों से निकली राख सड़क किनारे जमा की गई थी। नाराज भूरेलाल ने सख्त लहजे में उत्तर प्रदेश प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के अधिकारियों की क्लास ली। जिला प्रशासन और नगर महापालिका के अधिकारियों से कहा कि प्रदूषण जल्द साफ न हुआ तो दंडात्मक कारवाई तय है। रविवार दोपहर करीब 12 बजे भूरेलाल परतापुर चौराहे पर पहुंचे, जहां धूल का गुबार देखकर रुक गए। उन्होंने सड़क निर्माण और धूल रोकने के लिए पानी के छिड़काव का जायजा लिया। दौरा पूरी तरह गोपनीय था, इसलिए किसी विभाग के अधिकारी को सूचना नहीं थी। यहां से वो मुजफ्फरनगर पहुंचे।

ईओ के खिलाफ कार्रवाई के निर्देश

भूरेलाल ने पहले खतौली क्षेत्र और नेशनल हाईवे-58 पर वायु प्रदूषण की स्थिति को देखा। खतौली क्षेत्र में सड़क किनारे कूड़ा जलता देख नाराजगी जताई। ईओ के विरुद्ध कार्रवाई के निर्देश दिए। इसके बाद जानसठ रोड पर स्थितियों को देखकर नाराजगी जताई। जानसठ, भोपा और जौली रोड पर अनेक स्थानों पर खुले में ही कोयले की राख (फ्लाइएश), पालीथिन, प्लास्टिक का कचरा मिला। इससे वायु प्रदूषण बढऩे के अलावा भूगर्भ को भी खतरा है। इसके बाद वह जानसठ क्षेत्र में ही धंधेड़ा और जट मुझेड़ा के नाले का निरीक्षण करने पहुंचे। इन दोनों नालों में औद्योगिक इकाइयों का पानी आता है, जो काली नदी में गिरता है। नाले में रंगीन पानी बहने पर पूर्ण रूप से प्रतिबंध लगाने के निर्देश दिए। रजवाहों में भयावह दुर्गंध थी, जिसमें कैंसरकारक रसायन बह रहे थे। दर्जनों पेपरमिलों का कचरा यहां-वहां बिखरा मिला। धुआं उगलती इकाइयों का फोटो लेकर उसे केंद्रीय प्रदूषण कंट्रोल बोर्ड को भेजा गया।

अधिकारियों पर भड़के

भूरेलाल ने उत्तर प्रदेश प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के सदस्य सचिव आशीष तिवारी को फोनकर नाराजगी जताई। कहा कि आप तो सफाई का दावा कर रहे थे, लेकिन स्थिति बेहद भयावह है। अगर नगर निगम या नगर पालिकाएं कचरा साफ नहीं कर रही हैं तो उन पर जुर्माना क्यों नहीं लगाया जा रहा? उन्होंने दो दिन बाद वीडियोकांफ्रेंसिंग में पूरी रिपोर्ट पेश करने के लिए भी कहा। मुजफ्फरनगर की जिलाधिकारी सेल्वा कुमारी जे. को भी फोनकर भूरेलाल ने जिले की स्थिति पर नाराजगी जताई।  

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस