मेरठ,जेएनएन। पश्चिमांचल प्रबंधन के खिलाफ लामबंद बिजली अभियंताओं का धरना ऊर्जा भवन परिसर में दूसरे दिन भी जारी रहा। अस्थायी कनेक्शन मामले में नोएडा के तीन अधिशासी अभियंता व आठ सहायक अभियंताओं पर हुई कार्रवाई के विरोध में धरना दिया जा रहा है। गुरुवार को विद्युत मजदूर पंचायत उप्र और हाइड्रो इलेक्ट्रिक इंप्लाइज यूनियन उप्र आदि संगठन भी अभियंताओं के साथ आ गए। उत्तर प्रदेश राज्य विद्युत परिषद अभियंता संघ के पदाधिकारियों ने न्याय न मिलने तक आंदोलन तेज करने की चेतावनी दी है। गुरुवार को भी पश्चिमांचल प्रबंधन ने धरना समाप्त कराने की कोई सकारात्मक पहल नहीं की। जिसके चलते एक तरह से कार्य बहिष्कार की स्थिति बन गई है। बिजली आपूर्ति व अन्य इमरजेंसी कार्यों को छोड़कर बाकी काम बंद हैं। अभियंता संघ के उपाध्यक्ष कपिल तेवतिया ने कहा कि अभियंताओ को जब तक न्याय नही मिलेगा पूरे डिस्काम के अभियंता विरोध प्रदर्शन एवं कार्य बहिष्कार करेंगे। धरने के दौरान मुख्य रूप से इंजीनियर रोहित, प्रणव चौधरी , आशीष सिंह,आलोक त्रिपाठी, ज्योति आदि अभियंता मौजूद रहे।

प्रतिमाओं का सफाई अभियान जल्द: ग्लोबल सोशल कनेक्ट संस्था की मासिक सभा गुरुवार को स्टार प्लाजा में हुई। जिसमें संस्था के महासचिव अभिषेक शर्मा ने बताया कि संस्था के द्वारा पल्लवपुरम स्थित रैन बसेरे में छोटे बच्चों को पढ़ाने के साथ ही उनकी प्रतिभा विकास के लिए निरंतर प्रयास किया जा रहा है। इस वर्ष कई गतिविधियों को संचालन किया जाएगा। दो अक्टूबर को राष्ट्रपिता महात्मा गाधी के जन्म दिवस पर रैन बसेरे में कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा। जल्द ही मुख्य नगरायुक्त के साथ बैठक और महापुरुषों की प्रतिमाओं को साफ करने का अभियान भी संस्था द्वारा जल्द शुरू किया जाएगा। सभा में ऋचा सिंह, डा. सुरभि नंदा, संगीता सिंह और रविंद्र प्रधान भी उपस्थित रहे।

Edited By: Jagran