मेरठ, जेएनएन। पुरानी पेंशन बहाली की मांग को लेकर कर्मचारी, शिक्षक, अधिकारी-पुरानी पेंशन बहाली मंच उप्र ने मंगलवार को चौधरी चरण सिंह पार्क से बाइक रैली निकाली। साथ ही एलान किया कि वह पुरानी पेंशन बहाली के लिए कोई भी कुर्बानी देने को तैयार हैं। प्रांतीय नेतृत्व के आह्वान पर छह फरवरी से प्रस्तावित हड़ताल हर हाल में होगी।
बाइक रैली निकाली
मंच के अध्यक्ष राकेश तोमर, संयोजक गिरजाकांत शर्मा एवं संयुक्त कर्मचारी परिषद के जिला मंत्री बनी सिंह चौहान के नेतृत्व में सदस्य सुबह 11:30 बजे चौधरी चरण सिंह पार्क में एकत्र हुए। इसके बाद जन जागरण बाइक रैली शुरू हुई, जिसमें कर्मचारी एवं शिक्षक शामिल हुए। रैली कलक्ट्रेट,एसएसपी आफिस एवं आंबेडकर चौराहा होते हुए सर्किट हाउस के मुख्य गेट पर पहुंची। इसके बाद शिक्षकों तथा कर्मचारियों की दस-दस टीमें बनाई गईं, जो विभिन्न विभागों में जन जागरूकता करने के लिए पहुंची।
कसी कमर
मंच के नेताओं ने बताया कि छह फरवरी से प्रस्तावित हड़ताल होगी। दोपहर 12 बजे से तीन बजे तक राजकीय इंटर कॉलेज परिसर स्थित यूपी एजुकेशनल मिनिस्टियल आफिसर्स एसो. कार्यालय पर धरना दिया जाएगा। प्रशासन के साथ हुई वार्ता में भी हड़ताल पर रहने के बारे में अवगत करा दिया है। सभी विभागों में स्कूल-कालेजों में कामकाज व शिक्षण कार्य ठप होगा। रैली में कुलदीप चौधरी, अनुज शर्मा, दीपक तिवारी, बनी सिंह, शेर पाल सिंह सोलंकी, नीरज कुमार, मदन भारद्वाज, सुरेश कुमार, कृष्ण गोपाल व सुनील दत्त आदि मौजूद रहे।
शिक्षक संघ ने भी दिया ज्ञापन
प्राथमिक शिक्षक संघ व अन्य विभाग एस-चार के कर्मचारियों ने भी पुरानी पेंशन की बहाली की मांग को लेकर डीएम के नाम ज्ञापन दिया। कहा कि 21 फरवरी से सभी लखनऊ में जेल भरो आंदोलन में भाग लेंगे। ज्ञापन देने वालों में महानगर अध्यक्ष विनोद कुमार त्यागी, जिला संयोजक विजय यादव, सतीश कुमार, नरेंद्र सिंह, प्रदीप शर्मा, जयश्री, अनीता, अंशु त्यागी, गुरूदत्त जायसवाल, प्रीति राणा आदि शामिल रहे।
डीएम ने भी जारी किया आदेश
पुरानी पेंशन बहाली की मांग को लेकर छह फरवरी से प्रस्तावित हड़ताल को लेकर डीएम अनिल ढींगरा ने भी देर रात आदेश जारी किया है। उन्होंने जिले के सभी कार्यालध्यक्षों को यह निर्देश दिए है कि वह अपने विभाग से सम्बंधित कर्मचारी संगठन के पदाधिकारियों से वार्ता करें कि उनके विभागीय कर्मचारी कार्य बहिष्कार एवं हड़ताल जैसी गतिविधि में शामिल न हों। उन्होंने सभी कार्यालध्यक्षों को निर्धारित समय पर कार्यालयों के खोलने व अन्य सरकारी कार्य कराने के निर्देश दिए हैं। इसके लिए एडीएम सिटी मुकेश चंद्र को नोडल अधिकारी बनाया गया है। साथ ही मुख्य कोषाधिकारी को सह नोडल अधिकारी नामित किया गया है। एडीएम सिटी कार्यालय में कन्ट्रोल रूम 0121-2664611 की भी स्थापना की गई है। वहीं, सभी कार्यालध्यक्ष कार्य बहिष्कार व हड़ताल की सूचना निर्धारित प्रारूप पर प्रतिदिन शाम चार बजे तक एडीएम सिटी कार्यालय में बने कंट्रोल रूम को उपलब्ध कराएंगे।
शिक्षकों व कर्मियों की हड़ताल से उड़ी प्रशासन की नींद
पुरानी पेंशन बहाली की मांग को लेकर प्रस्तावित हड़ताल ने जिला-प्रशासन की नींद उड़ा दी है। जिला प्रशासन के मान मनोव्वल व कड़ी कार्रवाई की चेतावनी के बावजूद शिक्षक व कर्मचारी हड़ताल पर अडिग है। छह से 12 फरवरी तक प्रस्तावित हड़ताल के मद्देनजर डीएम अनिल ढींगरा ने अधिकारियों, शिक्षक व कर्मचारी नेताओं की बैठक ली। बचत भवन सभागार में हुई। बैठक में डीएम ने बोर्ड परीक्षाओं आदि के चलते शिक्षकों व कर्मचारियों से हड़ताल न करने की अपील की। शिक्षकों व कर्मचारी नेताओं ने इन्कार कर दिया। बैठक में डीएम अनिल ढींगरा ने बोर्ड परीक्षा की तैयारियों की जानकारी ली। बीएसए ने बताया कि करीब चार सौ शिक्षा मित्रों की ड्यूटी लगायी गई है। डीएम ने यह संख्या बढ़ाकर छह सौ तक करने के निर्देश दिए।
निर्विघ्न होंगी बोर्ड परीक्षाएं
शिक्षकों व कर्मचारियों की छह फरवरी से प्रस्तावित हड़ताल के बावजूद यूपी बोर्ड की सात फरवरी से होने वाली परीक्षाएं निर्विघ्न सम्पन्न होंगी। जिला प्रशासन ने परीक्षा आदि को लेकर अपनी पूरी तैयारी कर ली है। एडीएम सिटी मुकेश चंद्र ने बताया कि छह फरवरी से प्रस्तावित शिक्षकों व कर्मचारियों की हड़ताल में कई संगठन शामिल नहीं है। इनमें विकास भवन व कलक्टेट समेत अन्य संगठन शामिल है। इसके अलावा लेखपाल संघ आदि ने भी हड़ताल में शामिल न होने की जानकारी दी है।

Posted By: Ashu Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस