बुलंदशहर, जेएनएन। पुलिस की संवेदनहीनता और लापरवाही से भरा हुआ एक और मामला सामने आया है, बुधवार की सुबह वली पुरा नहर मैं बहकर आए एक शव को पुलिस कर्मियों ने नहर के किनारे खेल रहे बच्चों से बाहर निकलवाया। जिसकी किसी ने वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर वायरल कर दी। मामला संज्ञान में आने पर एसएसपी ने एक दरोगा और कॉन्स्टेबल को लाइन हाजिर कर मामले की जांच सीओ सिटी को सौंप दी है।

खुद रहे खड़ा नावालिक से निकलवाया शव

बुधवार की सुबह वलीपुरा नहर में एक अधेड़ का शव बहकर आया था, जोकि बुलंदशहर झाल पर अटक गया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को निकालने के लिए किनारे पर खेल रहे नाबालिग बच्चों को बुलाया और खुद खड़े होकर बच्चों से ही नहर से बाहर शव को निकलवाया। इस बीच किसी ने इस घटनाक्रम की वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर वायरल कर दी।

एसएसपी ने दरोगा और कांस्‍टेबल को किया सस्‍पेंड

उधर, मामला एसएसपी के पास पहुंचा तो उन्होंने वीडियो देखने के बाद कोतवाली देहात में तैनात दरोगा रामनरेश सिंह और कांस्टेबल महावीर को तत्काल प्रभाव से लाइन हाजिर कर दिया। जबकि मामले की जांच सीओ सिटी राघवेंद्र मिश्रा को सौंप कर 1 सप्ताह में रिपोर्ट तलब की है। एसएसपी संतोष कुमार सिंह ने बताया कि दोनों पुलिसकर्मियों का आचरण पुलिस की छवि को धूमिल करने वाला है। ऐसा नहीं होना चाहिए था, सीओ सिटी की रिपोर्ट आने के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।  

Posted By: Prem Bhatt

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस