मेरठ, जेएनएन। माध्यमिक शिक्षा परिषद उत्तर प्रदेश (यूपी बोर्ड) की साल 2020 की बोर्ड परीक्षा के लिए जिले में 105 परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं। परिषद मुख्यालय की ओर से ऑनलाइन निर्धारित 105 परीक्षा केंद्रों की सूची जिला विद्यालय निरीक्षक कार्यालय की ओर से जारी कर दी गई है। इनमें सात राजकीय, 84 सहायता प्राप्त और 14 वित्तविहीन केंद्र बने हैं। परीक्षा केंद्रों पर आपत्ति दर्ज कराने का समय 14 नवंबर तक है। स्कूल जिविनि कार्यालय में अपनी आपत्ति दर्ज करा सकते हैं। 14 नवंबर के बाद परीक्षा केंद्रों से संबंधित कोई आपत्ति स्वीकार नहीं की जाएगी और निर्धारित परीक्षा केंद्रों को ही अंतिम माना जाएगा। 2019 से 2020 में ढाई हजार कम परीक्षार्थी

पिछले साल की तुलना में इस सत्र में भी तकरीबन उतने ही परीक्षार्थी हैं। 2020 में कुल 86,665 परीक्षार्थी हैं। इनमें हाईस्कूल में 43,423 परीक्षार्थी और इंटरमीडिएट में 43,242 परीक्षार्थी पंजीकृत हैं। साल 2019 में कुल परीक्षार्थी 84,092 थे। हाईस्कूल में 43,783 परीक्षार्थी और इंटरमीडिएट में 40,309 परीक्षार्थी थे। पिछले साल 107 परीक्षा केंद्रों में छह राजकीय, 87 सहायता प्राप्त और 14 वित्तविहीन परीक्षा केंद्र बनाए गए थे। हर केंद्र पर अलग-अलग स्कूलों के बच्चे

बोर्ड परीक्षा के लिए बनाए गए हर परीक्षा केंद्र पर एक से अधिक स्कूलों के बच्चों को आवंटित किया गया है। सूची में किस स्कूल के कितने परीक्षार्थी किस परीक्षा पर आवंटित हैं, यह भी विस्तार से दिया गया है। जिससे स्कूल अपने छात्र-छात्राओं का परीक्षा केंद्र देख कर अधिक दूरी होने पर शिकायत दर्ज करा सकते हैं। परीक्षार्थियों के आवंटन में परिषद मुख्यालय ने एक ही प्रबंधन के अलग-अलग विद्यालयों में एक-दूसरे का केंद्र न पड़े, इसका विशेष ख्याल रखा है। 28 फरवरी से होगी परीक्षा

यूपी बोर्ड 2020 की परीक्षा 28 फरवरी से शुरू होगी। 10वीं व 12वीं की बोर्ड परीक्षा एक ही दिन शुरू हो रही है। हाईस्कूल की परीक्षा तीन मार्च को समाप्त होगी। इंटरमीडिएट की परीक्षा छह मार्च को खत्म होगी। स्कूलों में अर्धवार्षिक परीक्षा हो चुकी है। अब 10वीं व 12वीं के लिए प्री-बोर्ड परीक्षाएं होंगी जिससे छात्रों की तैयारी का आंकलन भी हो जाएगा।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप