मेरठ, जागरण संवाददाता। किठौर के मेरठ-गढ़ मार्ग स्थित जीएम इंटर कालेज के सामने एक रेस्टोरेंट पर रविवार शाम कुछ लोगों ने फायरिंग कर दी। गोली रेस्टोरेंट के मुख्य द्वार के ऊपर लगी। फायरिंग होते ही घटनास्थल पर भगदड़ मच गई। इतना ही नहीं, पीडि़त पक्ष जब रिपोर्ट लिखवाने के लिए थाने पहुंचा तो आरोपित दोबारा घटना स्थल पर जा धमके और चार राउंड फायरिंग की।

यह है मामला

शबनूर पुत्र असलम हाल निवासी हापुड़ ने थाने में रिपोर्ट दर्ज कराते हुए बताया कि उसके चाचा अंजुम पुत्र अब्दुल रहमान ने किठौर में मेरठ-गढ़ मार्ग पर जेडएफसी नाम से रेस्टोरेंट खोला है। रविवार को उसका उद्घाटन था। जिसमें शामिल होने के लिए शबनूर अपने पिता के साथ किठौर आया हुआ था। आरोप है कि शाम लगभग सात बजे कस्बे के ही शुऐब पुत्र आबिद और शजर पुत्र राशिद अपने एक अन्य साथी के साथ रेस्टोरेंट पर पहुंचे और गाली-गलौज करते हुए वहां मौजूद लोगों के साथ मारपीट करने लगे। आरोप है कि विरोध करने पर आरोपितों ने रेस्टोरेंट में तोडफ़ोड़ करते हुए गोलीबारी कर दी। इस दौरान एक गोली रेस्टोरेंट के मुख्य द्वार के उपर दीवार में धंस गई। इससे घटनास्थल पर भगदड़ मच गई। इतना ही नहीं, पीडि़त जब रिपोर्ट लिखवाने थाने पहुंचा तो आरोपित दोबारा घटना स्थल पर जा पहुंचे और चार राउंड फायरिंग की। हालांकि पुलिस दोबारा फायरिंग की बात से इन्कार कर रही है। 

गमीनत रही कोई नहीं हुआ हताहत 

गनीमत रही कि हादसे में कोई हताहत नहीं हुआ। सूचना पर पुलिस

घटनास्थल पर पहुंची, लेकिन तब तक आरोपित फरार हो गए। बकौल शबनूर उसके पिता का ट्रांसपोर्ट का काम है। आरोपित पिछले दो महीने से उससे रंगदारी मांग रहे थे। इन्कार करने पर रेस्टोरेंट पर हमला किया गया।

पैसे के लेन-देन पर विवाद आया सामने

इंस्पेक्टर अरविंद मोहन शर्मा का कहना है कि असलम ट्रांसपोर्टर है। आरोपितों ने उसकी गाडिय़ों पर काम किया है। फिलहाल पैसे के लेन-देन पर दोनों में विवाद की बात सामने आई है। पूर्व में गढ़मुक्तेश्वर में भी इसको लेकर विवाद होना बताया गया है। आरोपितों के विरुद्ध जानलेवा हमले की रिपोर्ट दर्ज कर ली गई है। ऐसे में एक बार फिर अफरातफरी मच गई और लोग भाग खड़े हुए।

Edited By: Parveen Vashishta