मेरठ,जेएनएन। शनिवार देररात हुई बारिश से शहर के कई इलाकों में जलभराव हो गया। ज्यादातर वे इलाके जलमग्न हुए, जहां या तो जलनिकासी की समुचित व्यवस्था नहीं है या फिर निचले क्षेत्रों में बसे हैं। सबसे ज्यादा खराब हालात माधवपुरम क्षेत्र के रहे। यहां सड़क व नाला-नाली लबालब हो गए। रविवार को पूरे दिन लोग जलनिकासी को लेकर परेशान रहे।

माधवपुरम में ग्रीन बेल्ट वाली सड़क व दोनों तरफ के नाले उफन गए। वजह दिल्ली रोड नाले में ओवरफ्लो की स्थिति रही। दरअसल, माधवपुरम की जलनिकासी छोटे नालों से होकर दिल्ली रोड नाले में होती है, लेकिन दिल्ली रोड नाले पर पहले से ही क्षमता से अधिक जलनिकासी का भार है। नाले में पानी की लेवल जैसे-जैसे कम हुआ, वैसे-वैसे माधवपुरम में सड़क से पानी हटा। स्पो‌र्ट्स कांप्लेक्स की गलियां जलमग्न रहीं। शिवपुरम की गलियों में घुटनों तक पानी भर गया। निचले इलाकों में किशनपुरा मार्केट, मलियाना रेलवे फाटक के सामने बाजार क्षेत्र में, साबुन गोदाम, चंद्रलोक कालोनी में जलभराव हुआ। मेवला फ्लाई ओवर तक में जल जमाव की स्थिति रही। रोहटा रोड पर गोलाबढ़ में जलभराव की स्थिति बनी। ओडियन नाले से जुड़े मोहल्ले जैसे ब्रह्मपुरी, ईश्वरपुरी, भगवतपुरा में भी हर बार की तरह जलभराव हो गया। रोहटा रोड के नाला निर्माण के चलते सड़क पर फैली सामग्री ने आवागमन में परेशानी खड़ी की। हापुड़ रोड पर 10 फीट गहरा गड्ढा, हादसे का खतरा

उधर, जलभराव के साथ ही शहर की सड़कें भी धंसने लगी हैं। हापुड़ रोड पर शानू शोरूम के सामने करीब 10 फीट गड्ढा हो गया। यह जमुना नगर मोहल्ले में आता है। हापुड़ रोड पर 24 घंटे आवागमन रहता है, जिससे हादसे का खतरा है।

Edited By: Jagran