मेरठ,जेएनएन। शिक्षण संस्थानों में शिक्षकों की भर्ती सिफारिश से नहीं,बल्कि मेरिट के आधार पर सुनिश्चित होनी चाहिए। एक आदर्श शिक्षक को चरित्र के साथ कुशल व्यक्तित्व का भी धनी होना चाहिए। स्वस्थ समाज के निर्माण में शिक्षक की भूमिका अहम होती है। शिक्षा के साथ बच्चों को संस्कार देना बेहद जरूरी है।
एक अच्छा इंसान भी होना बेहद जरूरी
यह बातें केंद्रीय मानव संसाधन विकास राज्यमंत्री डॉ.सत्यपाल सिंह ने बतौर मुख्य अतिथि गुरुवार को किला रोड स्थित एसआर इंटरनेशनल के उद्घाटन मौके पर कही। मुख्य अतिथि ने फीता काटकर विद्यालय का शुभारंभ किया। इसके बाद उन्होंने असतो मां सदगमय से आरंभ कर संबोधित करते हुए गुरू व शिक्षक के महत्व को बारीकी से समझाया। कहा कि डॉक्टर,इंजीनियर या किसी भी कैरियर को चुनने के साथ ही एक अच्छा इंसान भी होना बहुत जरूरी है। संस्कार के बिना एक अच्छा इंसान बनना संभव नहीं है।

रूद्राक्ष का पौधा रोपित किया
कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि चौ.चरण सिंह विश्वविद्यालय के वीसी प्रो.एनके तनेजा ने भी संबोधित किया। इस अवसर पर दोनों अतिथियों ने विद्यालय परिसर में रूद्राक्ष का पौधा रोपित किया। विद्यालय के चेयरमैन गंभीर सिंह चौहान,निदेशक स्वतंत्र सिंह चौहान व प्रधानाचार्य अंशु चौहान ने अतिथियों को स्मृति-चिह्न व शॉल भेंटकर सम्मानित किया। भाजपा जिलाध्यक्ष रविन्द्र भड़ाना,डा. अभिषेक डबास,कुलदीप तोमर,नंगला साहू प्रधान अनवार अली,सूरज मित्तल, शाहनवाज खान,कुलदीप सिंह व फारूख आदि मौजूद रहे।
तनाव से टूट रहा समाज
मुख्य अतिथि डा.सत्यपाल सिंह ने कहा कि आजकल हर कोई अपने प्रोफेशन में तनाव से गुजर रहा है। स्ट्रेस में होने के कारण समाज टूटता जा रहा है। जो बेहद गंभीर विषय है। कहा कि हमें मानसिक रूप से मजबूत होना पड़ेगा। कहा कि शिक्षण संस्थान बढ़ रहे हैं लेकिन इंसानियत कम होती जा रही है। 

Posted By: Ashu Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस