मेरठ, जेएनएन। दौराला थाना क्षेत्र के गांव मवीमीरा में बुधवार तड़के विवाहिता की पेट में गोली मारकर हत्या कर दी गई। मृतका के मायके वालों ने दहेज में तीन लाख की मांग पूरी ना होने पर पति और जेठ के ऊपर हत्या करने का आरोप लगाया। पुलिस ने मृतका के मायके वालों से तहरीर ले ली है। वही मौके से पुलिस ने आरोपित पति और जेठ को गिरफ्तार करते हुए अलमारी से 315 बोर का तमंचा भी बरामद किया है।

यहां का है मामला

पल्लपुरम थाना क्षेत्र के पल्हेड़ा गांव निवासी अनुसूचित जाति की पवित्रता पुत्री वीरपाल श्रीपरमधाम न्यास दौराला के वलीदपुर गांव के आश्रम में अनुयायी के रूप में जाती थी। वहीं आश्रम में दौराला के मवीमीरा गांव निवासी सोमपाल गुर्जर उर्फ सोनू भी अनुयायी था। पांच वर्ष पूर्व आश्रम में अंतर जातीय व दहेज रहित दोनों का विवाह संपन्न कराया गया। दंपति के दो बच्चे रुद्र और प्रणव हैं। पवित्रता का भाई आनंद प्रकाश पुत्र वीरपाल ने आरोप लगाया कि शादी के बाद से ही सोमपाल दहेज के नाम पर तीन लाख रुपये की मांग करने लगा। सोमपाल और उसका बड़ा भाई प्रमोद आए दिन पवित्रता को मारते पीटते थे। इसका कई बार जिक्र पवित्रता ने मायके में भी किया था। मगर दो बच्चे और परिवार ना टूटने की दुहाई देकर पवित्रता को ससुराल में ही रहने के लिए कहा गया था। बुधवार तड़के करीब छह बजे पल्हेड़ा में मायके वालों को पवित्रता की हत्या होने की सूचना मिली। जिसके बाद मायके पक्ष के लोग मवीमीरा गांव पहुंचे।

चारपाई पर था विवाहिता का शव

ससुराल में चारपाई पर पवित्रता का शव पड़ा हुआ था। पेट में गोली लगी हुई थी। सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची जांच पड़ताल की। मृतका के भाई की तहरीर पर पुलिस ने आरोपित पति और जेठ को गिरफ्तार करते हुए अलमारी में रखे तमंचे को भी बरामद किया है।

इंस्पेक्टर जनक सिंह चौहान का कहना है कि दहेज की मांग पूरी ना होने पर पति ने अपने भाई के साथ मिलकर विवाहिता की गोली मार हत्या की है। दोनों आरोपी गिरफ्तार और हथियार बरामद कर शव मोर्चरी पहुंचा दिया है। मुकदमा दर्ज किया गया है। 

Posted By: Prem Bhatt

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस