मेरठ, जागरण संवाददाता। शास्त्रीनगर के जी ब्लाक में सेवानिवृत्त हेडकांस्टेबल की पत्नी और उनकी नातिन की चाकुओं से गोदकर हत्या कर दी गई। पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज के आधार पर पड़ोस के तीन युवकों को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू कर दी है। घर में 22 लाख रुपये और लाखों के जेवर सुरक्षित मिले हैं। 

मूलरूप से बुलंदशहर जिला निवासी है परिवार 

 मूलरूप से बुलंदशहर जिले के बीवीनगर थाने के लोहलारा गांव निवासी रतन सिंह सिरोही पिछले 40 साल से शास्त्रीनगर जी ब्लाक में रहते थे। इसी वर्ष सात जुलाई को कैंसर से उनकी मौत हो गई थी। घर में उनकी पत्नी कौशल सिरोही और दस वर्षीय नातिन तमन्ना पुत्री स्नेहा रहती थीं।

सोमवार सुबह बंद था मुख्य गेट 

रविवार रात साढ़े 12 बजे स्नेहा मां और बेटी से मिलकर पति के साथ माधवपुरम ससुराल चली गईं। सोमवार सुबह बर्तन साफ करने वाली महिला घर पहुंची तो मुख्य गेट बंद था। महिला ने पड़ोसियों को जानकारी दी। पड़ोसियों ने स्नेहा को काल किया। स्नेहा पति ईशु के साथ पहुंच गई। मुख्य गेट बंद था, लेकिन पीछे का दरवाजा खुला था। अंदर जाकर देखा तो बेडरूम के गद्दे और अन्य सामान बिखरा पड़ा था। स्नेहा ने सबसे पहले बेड के अंदर रखे 22 लाख रुपये और जेवर निकालकर अपनी गाड़ी में रखे।

गद्दे के नीचे पड़े थे दोनों शव 

बेडरूम में पड़ा गद्दा हटाया तो उसके नीचे दोनों शव पड़े थे। स्नेहा ने पुलिस को सूचना दी। कौशल के गर्दन और शरीर पर चाकू के दस वार थे, जबकि तमन्ना की गर्दन पर एक वार था। हत्यारे घर के बाहर लगे सीसीटीवी की डीवीआर भी ले गए। रतन सिंह के दो बेटियां और दो बेटे हैं। बड़ा बेटा नवीन गाड़ी चलाता है और गंगानगर में रहता है, छोटा बेटा गौरव लखनऊ में रहता है, जबकि दूसरी बेटी गुडिया दिल्ली में रहती है। नवीन ने नौचंदी थाने में तहरीर दी है। उधर, पुलिस ने मौके पर पहुंच जांच की। आइजी व एसएसपी भी पहुंचे। फोरेंसिक टीम ने भी जांच की।  

इनका कहना है...

पुलिस की छह टीमें चार लाइनों पर काम कर रही हैं। बदमाशों द्वारा लाखों की नकदी ले जाने की जानकारी भी मिली है। संपत्ति के विवाद पर भी पुलिस जांच कर रही है। कुछ सुराग मिले हैं, जिनके आधार पर जल्द पर्दाफाश कर दिया जाएगा। पोस्टमार्टम के बाद अंतिम संस्कार करा दिया गया।  

-रोहित सजवाण, एसएसपी।

यह भी पढ़ें : Meerut Double Murder: रिश्‍तों पर सवाल, नानी-धेवती के कत्ल के बाद अब किसे मिलेगी करोड़ों की संपत्ति

Edited By: Parveen Vashishta