मेरठ, जागरण संवाददाता। मेरठ जिले में शुक्रवार को डेंगू के चार नए मरीज मिले हैं। अब तक जिले में कुल 1623 मरीज मिल चुके हैं। इनमें शहरी क्षेत्र में 870 मरीज और ग्रामीण क्षेत्रों में 753 मरीज मिल चुके हैं। मंडलीय सर्विलांस अधिकारी डा. अशोक तालियान ने बताया कि नए मिले मरीजों में शहरी क्षेत्र से नंगलाबट्टू में एक मात्र मरीज मिला है। ग्रामीण क्षेत्रों में माछरा, रजपुरा व सरधना में एक-एक मरीज मिला है। अब जिले में डेंगू के कुल 134 सक्रिय मरीज हैं। इनमें 26 मरीज विभिन्न अस्पतालों में भर्ती हैं और 108 मरीज घर पर रहकर अपना इलाज करवा रहे हैं। अब तक 1489 मरीज रिकवर भी हो चुके हैं।

3818 सैंपलों की जांच में कोई संक्रमित नहीं

मेरठ : शुक्रवार को 3818 सैंपलों की जांच में कोई भी संक्रमित नहीं मिला। सीएमओ डा. अखिलेश मोहन ने बताया कि अब जिले में कोरोना संक्रमण से ग्रसित दो सक्रिय मरीज हैं। दोनों मरीज होम आइसोलेशन पर रहकर अपना इलाज करा रहे हैं।

कोरोना से मरने वालों के स्वजन को मिलेंगे 50 हजार, मांगे आवेदन

मेरठ : कोरोना संक्रमण की पहली व दूसरी लहर में सरकारी रिकार्ड के अनुसार जनपद में 898 लोगों की मौत हो गई थी। अब केंद्र सरकार के निर्देश पर प्रदेश सरकार ने संक्रमण से मृत लोगों के स्वजन को 50 हजार रुपये की मदद देने की पहल शुरू की है। इसके लिए जिला प्रशासन ने दिवंगत के स्वजन से आवेदन मांगे हैं। जांच-पड़ताल की प्रक्रिया को पूर्ण कर मदद राशि स्वजन को दी जाएगी।

निर्धारित फार्म पर आवेदन

अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व पंकज वर्मा ने बताया कि शासन द्वारा जारी किए गए शासनादेश के निर्देशानुसार कोरोना संक्रमण से मरने वाले लोगों के स्वजन को आपदा मोचक निधि से मदद राशि दी जाएगी। मदद पाने के लिए स्वजन को निर्धारित फार्म पर आवेदन करना होगा। आवेदन फार्म कलक्ट्रेट स्थित दैवीय आपदा अनुभाग में गठित की गई कोरोना सहायता आवेदन पत्र प्राप्ति सेल से किसी भी कार्य दिवस में प्राप्त किया जा सकता है।

जांच प्रक्रिया के धन बैंक खाते में जाएगा

इसके अलावा जनपद की वेबसाइट से भी डाउनलोड किया जा सकता है। आवेदन के संबंध में अन्य किसी भी प्रकार की जानकारी के लिए कोविड-19 सहायता आवेदन पत्र प्राप्ति सेल में किसी भी कार्य दिवस में उपस्थित होकर जानकारी प्राप्त की जा सकती है। इसके अलावा मृत व्यक्तियों के स्वजन द्वारा अपना आवेदन पत्र जमा कराया जा सकता है। जांच प्रक्रिया को पूर्ण करने के बाद आवेदक को मदद राशि बैंक खाते में भेज दी जाएगी।

Edited By: Prem Dutt Bhatt