मेरठ, जेएनएन। आवाज दो हम एक हैं, हमारी मांगे पूरी हो, इंकलाब जिंदाबाद, वित्तमंत्री होश में आओ, अभी तो ली अंगड़ाई है आगे बहुत लड़ाई है... के नारे मंगलवार को आयकर भवन के बाहर गूंजे। जब आयकर कर्मचारी महासंघ और कनफेडरेशन आफ सेंट्रल गवर्नमेंट एम्पलाइज के आह्वान पर आयकर कार्यालय में कर्मचारियों ने धरना प्रदर्शन किया। उन्होंने जमकर नारेबाजी की।

सभी दस मांगों को पूरा किया जाए कर्मचारी महासंघ के अध्यक्ष सुधांशु सिंह और रीजनल सचिव विनय कुमार ने सभा को संबोधित करते हुए कहा कि उनके 10 मांगे हैं, उन सभी मांगों को पूरा किया जाना चाहिए। उपाध्यक्ष राजेश कुमार ने सभी कर्मचारियों को एक एकत्रित होकर अपनी आवाज उठाने पर कहा। धरना प्रदर्शन में अंकुश तोमर, हिमांशु मीणा, प्रमोद कुमार,ज्ञान सिंह, जबर सिंह, अनीता चौहान, निरंजन, सुनील कुमार, राम तिलक मिश्रा, विदित गोयल, दर्शन सिंह, हरि प्रकाश, कृष्णपाल सिंह,बाबू श्याम यादव, नीरज शर्मा, सेवाराम राजू, सत्येंद्र सिंह, नेगी कुंवर सिंह, मदनलाल जीवन सिंह, उमेश कुमार, प्रेम प्रकाश सिंह, राजेंद्र कुमार, शिव कुमार, अब्दुल सलाम सहित काफी संख्या में कर्मचारियों ने हिस्सा लिया।

यह हैं मांगें

नई पेंशन स्कीम को खत्म करते हुए पुरानी पेंशन लागू हो।

न्यूनतम फिटमेंट वेतन फार्मूला को बढ़ाया जाए।

निजीकरण बंद किया जाए।

600000 खाली पदों को तुरंत भरा जाए।

दैनिक वेतन भोगी और संविदा कर्मचारियों को नियमित किया जाए।

समान कार्य समान वेतन मिले सातवें वेतन आयोग की विसंगतियों को दूर किया जाए।

दया मूलक नियुक्ति में पांच परसेंट कोटा को समाप्त किया जाए और सभी को नियुक्ति हो।

कर्मचारियों से संबंधित कानून को कल्याणकारी बनाया जाए और 56 नियम को वापस किया जाए। 

Posted By: Prem Bhatt

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप