मेरठ, जेएनएन। गाड़ी में बाइक की साइड लगने पर बखेड़ा हो गया। बाइक सवार ने पहले गाड़ी का शीशा तोड़ दिया तो युवक ने साथी के साथ मिलकर बाइक में तोड़फोड़ कर दी। इसके बाद मारपीट शुरू हो गई। पुलिस दोनों पक्षों को थाने ले गई, जहां हंगामा हुआ। पुलिस ने किसी तरह मामला शांत कराया।

ब्रह्मामपुरी थाना क्षेत्र के भगवतपुरा निवासी पीयूष गुरुवार रात भगत सिंह मार्केट निवासी मौसी बरखा को बाइक से लेकर बेगमपुल जा रहा था। जैसे ही वह सदर बाजार थाना क्षेत्र में जगदीश शरण स्कूल के पास पहुंचे तो वेगनआर कार से साइड लग गई, जिसे गढ़ रोड निवासी विशाल चला रहा था। इस पर दोनों में कहासुनी हो गई। आरोप है कि पीयूष ने गाड़ी का पीछे का शीशा तोड़ दिया। इस पर विशाल ने अपने साथी अरुण को फोन कर बुला लिया। उन्होंने बाइक को क्षतिग्रस्त कर दिया। सरेराह दोनों पक्षों में मारपीट शुरू हो गई। बीच-बचाव कराने के लिए महिला आई तो उनसे भी अभद्रता कर दी। सूचना पर पहुंची पुलिस दोनों पक्षों को थाने ले आई। जानकारी पर उनके स्वजन भी पहुंच गए, जिनमें थाने में ही नोकझोंक होने लगी। पहले तो एक दूसरे के खिलाफ तहरीर दे देने की बात की जा रही थी, लेकिन बाद में दोनों पक्षों में समझौता हो गया। बताया गया कि दोनों पक्ष भाजपा से जुड़े हुए थे। थाना प्रभारी ने बताया कि समझौता होने के बाद दोनों पक्ष बिना किसी कार्रवाई के चले गए। खेलते समय पानी से भरी बाल्टी में गिरी बच्ची, मौत

चारपाई पर खेल रही एक साल की बच्ची पास में पानी से भरी बाल्टी में गिर गई। उसकी मौत हो गई।

जानी खुर्द गांव निवासी पिंटू बाइक मेकेनिक है। गुरुवार दोपहर पिंटू की पत्‍‌नी मनीषा घर का काम कर रही थीं। चारपाई के पास पानी से भरी बाल्टी रखी थी। उनकी एक साल की बच्ची मिष्ठी चारपाई पर खेल रही थी। इसी दौरान मिष्ठी बाल्टी में गिर गई। कुछ देर बाद मनीषा ने बच्ची को पानी की बाल्टी में बेहोश देखा तो उनके होश उड़ गए। स्वजन मासूम बच्ची को लेकर डाक्टर के पास पहुंचे जहां उसे मृत घोषित कर दिया गया। लोगों का कहना था कि मासूम बच्चों को अकेला नहीं छोड़ना चाहिए। अगर माता-पिता को इधर उधर काम भी करना है तो बच्चे के पास किसी को जरूर रहना चाहिए।

Edited By: Jagran