मेरठ, जेएनएन। दबथुवा थाना क्षेत्र के पोहल्ली गांव में बीते बुधवार को अनुसूचित जाति व जाट समुदाय के बीच संघर्ष हो गया था। इस दौरान खेत से लौट रहे किसान सुरेश गुप्ता की गोली लगने से मौत हो गई थी। रविवार को उनकी अरिष्टी में सांत्वना देने वालों का तांता लगा रहा। इस दौरान उपस्थित लोगों ने फरार आरोपितों की गिरफ्तारी और उन्हें कड़ी सजा देने की मांग उठाई।

इस मौके पर आइपीएल व रणजी ट्राफी क्रिकेट खिलाड़ी प्रियम गर्ग के पिता नरेश गर्ग, चाचा सुधीर गर्ग, राजेंद्र बंसल, राकेश बंसल, वेदप्रकाश गुप्ता, एस.के जिदल, सुरेश मित्तल, संजय गुप्ता, नीरज बंसल, रजनीश मित्तल, मोहन गुप्ता, राजकुमार व सुधीर गुप्ता आदि लोग शामिल हुए हैं।

दुष्कर्म के प्रयास का आरोप : लिसाड़ी गेट थाना क्षेत्र की एक कालोनी निवासी विवाहिता के मुताबिक उसके पति की बहन उनके साथ ही रहती हैं। आरोप है कि महिला के पति का भांजा उस पर गंदी नजर रखता है। रविवार दोपहर परिवार के सभी लोग एक शादी समारोह में गए थे। महिला घर पर अकेली थी। आरोप है कि युवक ने विवाहिता के साथ दुष्कर्म का प्रयास किया। शोर सुनकर आस पड़ोस के लोग भी आ गए। जिन्हें देख आरोपित युवक फरार हो गया। देरशाम महिला ने युवक के खिलाफ तहरीर दी है। थाना प्रभारी राम संजीवन का कहना है कि मामले की जांच कर कार्रवाई की जाएगी।

सीएए-एनआरसी बवाल का वांछित गिरफ्तार : सीएए-एनआरसी को लेकर हुए बवाल में वांछित चल रहे आरोपित को पुलिस ने घर से गिरफ्तार कर लिया। रविवार शाम को उसे कोर्ट में पेश किया गया, जहां से उसे जेल भेज दिया गया। 20 दिसंबर 2019 को एनआरसी-सीएए को लेकर आधे शहर में जमकर बवाल हुआ था। जगह-जगह तोड़फोड़ कर पुलिस चौकी में आग तक लगा दी गई थी। पुलिस ने कई लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। हालांकि कुछ आरोपित अभी फरार चल रहे हैं, जिनके पोस्टर भी लगाए गए थे। शनिवार रात लिसाड़ी गेट थाना क्षेत्र की समर गार्डन चौकी पुलिस को सूचना मिली कि बवाल का एक आरोपित जुबेर घर पर है। पुलिस ने दबिश देकर नीचा सद्दीकनगर से जुबेर को गिरफ्तार कर लिया। स्वजन ने विरोध भी किया लेकिन पुलिस उसे साथ ले गई।

Edited By: Jagran