मेरठ, जागरण संवाददाता। Delhi Meerut Rapid Rail दिल्‍ली मेरठ के बीच रैपिड रेल कारिडोर के कार्यों ने गति पकड़ ली है। जहां दिल्ली में आनंद विहार से न्यू अशोक नगर की ओर पहली टनल का निर्माण कर रही सुदर्शन 4.1 (टनल बोरिंग मशीन) ने तीन किमी में से 1.5 किमी टनल का निर्माण कार्य पूरा कर लिया है। वहीं मेरठ में भी टनल निर्माण का कार्य रफ्तार पर है।

14 किमी का हिस्सा दिल्ली में

82 किमी लंबे दिल्ली-गाज़ियाबाद-मेरठ आरआरटीएस कारिडोर में से 14 किमी का हिस्सा दिल्ली में है। दिल्ली में इस कारिडोर में जंगपुरा, सराय काले खां, न्यू अशोक नगर और आनंद विहार चार स्टेशन हैं। जिनमें सिर्फ आनंद विहार स्टेशन भूमिगत है। आनंद विहार स्टेशन से न्यू अशोक नगर की ओर तीन किमी लंबी समानान्तर दो टनल बनाने के लिए दो सुदर्शन कार्य कर रही हैं।

यह भी जानिए

पहली सुदर्शन, 4.1 ने अब तक 1.5 किमी टनल निर्माण कर लिया है। दूसरी सुदर्शन 4.2 ने भी अब तक लगभग एक किलोमीटर टनल बना ली है। दूसरी तरफ आनंद विहार से साहिबाबाद की ओर करीब दो किमी लंबी टनल बनाई जाएगी। जो वैशाली मेट्रो स्टेशन के सामने समाप्त होगी। इसके निर्माण के लिए एक सुदर्शन, 4.3 कार्य कर रही है और दूसरी सुदर्शन 4.4 असेम्बलिंग के अंतिम चरण में है। इसे जल्द लांच कर दिया जाएगा।

मेरठ में पहली टीबीएम ने तैयार की एक किमी टनल

वहीं दिल्ली-गाजियाबाद-मेरठ रैपिड रेल कारिडोर अंतर्गत मेरठ में टनल निर्माण तेजी से हो रहा है। भैंसाली भूमिगत स्टेशन से फुटबाल चौक की तरफ पहली सुदर्शन टनल बोरिंग मशीन ने दो किमी में से करीब एक किमी टनल का निर्माण पूरा कर लिया है। यानी आधी दूरी तय कर ली है।

मेरठ में यह है स्‍थिति

समानांतर दूसरी टनल बोरिंग मशीन ने करीब 400 मीटर टनल बना दी है। जबकि तीसरी टनल बोरिंग मशीन ने गांधीबाग से बेगमपुल की ओर 700 मीटर में से करीब 500 मीटर टनल का निर्माण पूरा कर लिया है। चौथी टनल बोरिंग मशीन लांचिंग की प्रक्रिया में है। 

Edited By: PREM DUTT BHATT

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट