मेरठ, जागरण संवाददाता। Deepak Murder Case मेरठ के दीपक हत्याकांड में पुलिस ने दो हत्यारोपियों को गिरफ्तार कर वारदात का पर्दाफाश कर दिया है। पकड़े गए आरोपित ने बताया कि बेटी के साथ संबंध बनाते देख ही दीपक की हत्या की प्लानिंग की थी। उसके बाद शराब पिलाने के बाद जंगल में ले जाकर तलवार से गर्दन काटी और शव को गन्ने के खेत में फेंक दिया।

सीमेंट के बोरे में था सिर

परीक्षितगढ़ के खजुरी निवासी दीपक का सिर रविवार देर रात गन्ने के खेत से पुलिस ने बरामद कर लिया। सिर सीमेंट के खाली बोरे में रखा था। पुलिस के अनुसार परीक्षितगढ़ के एक गांव के रहने वाले एक व्‍यक्‍ति ने अपनी शादीशुदा बेटी से दीपक को संबंध बनाते देख लिया था।

सड़क पर लगाया था जाम

पुलिस ने हत्यारोपी और उसके साथी को गिरफ्तार कर लिया है। इससे पहले परिजन और ग्रामीण लगातार सिर बरामद करने और घटना के खुलासे के लिए प्रदर्शन कर रहे थे। पुलिस राजफाश को लेकर पिछले पांच दिन में दो बार सड़क जाम कर चुके हैं।

तलवार से सिर काटकर की थी हत्या

परीक्षितगढ़ थाना क्षेत्र के खजूरी गांव निवासी दीपक त्यागी (20 साल) 26 सितंबर को घर से निकला था। इसके बाद वह वापस नहीं लौटा। उसका मोबाइल फोन भी बंद आ रहा था। 27 सितंबर को दीपक का शव गांव के जंगल में शव मिला। शव का सिर नहीं था। पुलिस ने शव बरामद करने के लिए सोना, खजूरी गांव के जंगल में छानबीन की, लेकिन सिर बरामद नहीं हो सका।

ऐसे बनाया था हत्‍या प्‍लान

28 सितंबर को पोस्टमार्टम के बाद शव का अंतिम संस्कार किया गया। युवती के पिता ने अपनी बेटी और दीपक को घर में रात को संबंध बनाते देख लिया था। जिसके बाद हत्यारोपित ने अपने दोस्त  के साथ मिलकर दीपक के हत्या का प्लान बनाया। जब दीपक गांव से बाहर निकला, तो जंगल में तलवार से सिर काटकर उसकी हत्या कर दी। 

यह भी पढ़ें : Meerut Crime News: हत्‍या के सात दिन बाद दीपक का कटा सिर गन्ने के खेत से मिला, आरोपित गिरफ्तार

Edited By: PREM DUTT BHATT

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट