जेएनएन, मेरठ। कंकरखेड़ा थानाक्षेत्र के फाजलपुर निवासी रूपक का शव पुलिस अभी तक बरामद नहीं कर पाई है। तीसरे दिन रविवार को शव बरामद करने के लिए पुलिस को पोकलेन मशीन का सहारा लेना पड़ा। बोरवेल की 45 फीट खोदाई के बाद भी पुलिस अभी तक शव बरामद नहीं कर पाई है। अब पुलिस बोरवेल का पाइप कटवाकर रातभर शव की तलाश करेगी। इसके लिए पुलिस ने जनरेटर की व्यवस्था की है। उधर, मुख्य आरोपित भी पुलिस की पकड़ से दूर है।

बता दें कि 23 वर्षीय रूपक उर्फ भूरी पुत्र जसवंत सिंह की 25 जून को दोस्तों ने घर से बुलाकर जिटोला गांव के जंगल में हत्या कर दी थी। शुक्रवार को पुलिस ने मुख्य आरोपित विक्की उर्फ जोसठ के दोस्त विशाल को हिरासत में लिया था। उसने पुलिस को बताया कि विक्की ने उसे बताया था कि रूपक की हत्या कर शव के टुकड़े कर नलकूप के बोरवेल में डाल दिए हैं। पिछले तीनों से पुलिस बोरवेल से रूपक के शव को बरामद करने का प्रयास कर रही है। जेसीबी से बोरवेल की खोदाई करने के बाद भी पुलिस जब नाकाम रही तो रविवार को पुलिस ने पोकलेन मशीन मंगाई। 40 फीट की खोदाई के बाद रेत और पानी आने से पुलिस के सामने मुश्किल बढ़ गई। देर शाम 45 फीट तक गड्ढा खोदने के बाद पुलिस बोरवेल के पाइप को कटवाने में जुटी थी। इस दौरान रूपक के स्वजनों के अलावा ग्रामीणों की भीड़ जमा रही। इंस्पेक्टर रोहटा उपेंद्र सिंह ने बताया कि तीन दिन से शव की तलाश जारी है। रात में जनरेटर लगाकर पोकलेन मशीन से खोदाई कराई जा रही है। उम्मीद है कि पाइप में शव के अवशेष मिल जाए।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस