मेरठ : नौचंदी थाने में लगे वाहनों के ढेर में शनिवार देर शाम आग लग गई। देखते ही देखते आग ने भीषण रूप ले लिया, जिसे देख थाने में हड़कंप मच गया। सूचना पर पहुंची दमकल विभाग की गाड़ी ने 45 मिनट में आग पर काबू पाया। आग लगने से आधा दर्जन से अधिक कार व अन्य वाहन बुरी तरह जल गए।

गौरतलब है कि नौचंदी थाने में काफी संख्या में जब्त वाहन खड़े हैं। वाहनों को एक के ऊपर एक रखकर ढेर लगाया हुआ है। शाम करीब साढ़े सात बजे एक कार में किसी तरह आग लग गई। देखते ही देखते आग फैलती चली गई और पूरे ढेर को अपनी चपेट में ले लिया। वाहनों के ढेर में ऊंची-ऊंची लपटें देख पुलिसकर्मी दौड़ पड़े। पुलिसकर्मियों ने सबमर्सिबल के पानी से आग पर काबू पाने की कोशिश की, लेकिन सफलता नहीं मिल सका। वाहनों का ढेर आवासीय क्वार्टरों के नजदीक था, लिहाजा उनमें रह रहे पुलिसकर्मियों के परिजनों में भी अफरा-तफरी मच गई। वे क्वार्टर छोड़कर एक तरफ इकट्ठा हो गए। सूचना पर पहुंची दमकल गाड़ी ने आग बुझानी शुरू की, जिसके बाद पुलिसकर्मियों ने राहत की सांस ली। नौचंदी इंस्पेक्टर ब्रजेश कुमार का कहना है कि अज्ञात कारणों से आग लगी थी। ज्यादा नुकसान नहीं हुआ है। सोफीपुर में दो पक्षों में मारपीट, कई घायल

पल्लवपुरम थाना क्षेत्र के गाव सोफीपुर में शनिवार रात दो पक्षों में मारपीट हो गई, जिसमें कई लोग घायल हो गए। पुलिस मौके पर पहुंची और घायलों का उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती कराया। एक पक्ष की तहरीर पर पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज कर ली है। जानकारी के मुताबिक सोफीपुर निवासी मोनू ने अपने साथियों के साथ मिलकर बाल्मीकि समाज के विष्णु, महेंद्र, सिकंदर पर हमला कर दिया। जिसमें तीनों लोग घायल हो गए। चीख-पुकार मचने पर पड़ोसियों की भीड़ लगी तो हमलावर फरार हो गए। कंट्रोल रूम पर सूचना देने पर यूपी-100 की पीआरवी और पल्लवपुरम पुलिस मौके पर पहुंच गई और घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया। विष्णु की तहरीर पर आरोपितों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है। इंस्पेक्टर जनक सिंह चौहान का कहना है कि दोनों पक्षों में पुराना विवाद चल रहा है। आरोपितों की तलाश में दबिश दी जा रही है।

Posted By: Jagran