मेरठ (जेएनएन)। सिविल लाइन क्षेत्र में सिंचाई विभाग के जूनियर इंजीनियर के घर में डकैती के बाद एक बार फिर बदमाशों ने खाकी को चुनौती दी है। मोहनपुरी में दिनदहाड़े डीएम के कार्यालय सहायक समेत दो परिवारों को बंधक बनाकर बदमाशों ने करीब 30 लाख का डाका डाला। दिनदहाड़े हुई वारदात से शहर में ध्वस्त कानून व्यवस्था की पोल खुल गई। पुलिस CCTV के जरिए बदमाशों तक पहुंचने का प्रयास कर रही है।

मोहनपुरी निवासी श्रीप्रकाश गोयल मकान में ऊपरी मंजिल पर परिवार समेत रहते हैं। निचले तल पर DM के कार्यालय सहायक राकेश गुप्ता व दूसरा परिवार पवन शर्मा का है। बुधवार सुबह राकेश गुप्ता और पवन शर्मा अपनी डयूटी के लिए निकल गए। सुबह करीब 11:00 बजे मकान में 7-8 बदमाश दाखिल हो गए। इस दौरान राकेश गुप्ता की पत्नी सुमन गुप्ता नहा रही थी। बदमाशों ने बाथरूम की बाहर से कुंडी लगा दी। चार बदमाश ऊपरी मंजिल पर श्रीप्रकाश के मकान में चले गए और हथियारों के बल पर श्री प्रकाश, उनकी पत्नी बीना गोयल, पुत्र अनुज गोयल, पुत्रवधू मिलन गोयल, पोता-पोती अस्मिता व मनीषा को बंधक बना लिया। सभी को कमरे में एक जगह बैठा कर लूटपाट शुरू कर दी गई। उनसे नगदी और जेवर मांगे तो दहशतजदा परिवार ने उन्हें सब कुछ दे दिया।

15 मिनट तक बंधक बनाया
निचले तल पर तीन चार बदमाशों ने राकेश गुप्ता के मकान को खंगाल डाला। जब सुमन गुप्ता ने बाथरूम के अंदर से शोर मचाया तो बदमाशों ने चुप रहने की धमकी दी। इसके बाद बदमाश अलमारी में रखी लाखों की नकदी व आभूषण लूट ले गए। करीब 15 मिनट तक बदमाशों ने दोनों परिवारों को बंधक बनाए रखा नगदी और आभूषण कितने लाख के हैं अभी पीड़ित परिवारों को भी नहीं पता है। सामान का आकलन किया जा रहा है।

एसपी सिटी पहुंचे
घटना की सूचना पर SP सिटी रणविजय सिंह, एसपी क्राइम सतपाल अंतिल, सीओ सिविल लाइन रामअर्ज मौके पर पहुंचे और वहां लगे सीसीटीवी कैमरे की फुटेज खंगाले। शहर में चेकिंग भी कराई गई, लेकिन बदमाशों का कोई सुराग नहीं लग सका। सीओ दफ्तर घटनास्थल से थोड़ी दूरी पर है। 

Posted By: Ashu Singh