मेरठ, जागरण संवाददाता। Cyber Crime मेरठ में साइबर ठगी का शिकार होने से बचने के लिए पुलिस द्वारा अभियान चलाए जा रहे है, थाना स्तर पर भी पोस्टर चस्पा कर दिए गए है। उसके बाद भी साइबर अपराधी सीधे-साधे लोगों को ठगी का शिकार बना लेते है। एक क्लिक में जमा पूंजी सीधे ठग के खातों में ट्रांसफर हो जाती है। पीडि़त थाने और साइबर सेल के चक्कर काटते रहते है। अब एक महिला टीचर के खाते से बीस हजार रुपये उड़ा लिए।

यह है मामला

सिविल लाइन थाना क्षेत्र निवासी निधि सक्सेना वेस्ट एंड रोड स्थित एक स्कूल में शिक्षिका है। उन्होंने बताया कि ठग ने अज्ञात नंबर से काल कर खुद को परिचित बताने लगा। कुछ देर बाद महिला भी आरोपितों की बातों में फंस गई। उन्होंने महिला के नंबर पर एक लिंक भेजा। जैसे ही निधि ने लिंक ओपन किया तो उनके खाते से तीन बार में बीस हजार रुपये कट गए। रुपये कटने का मैसेज आते ही महिला के होश उड़ गए।

पुलिस करेगी कार्रवाई

उन्होंने आरोपितों से रुपये वापस करने की गुहार भी लगाई। लेकिन उन्होंने अभद्रता करते हुए फोन काट दिया। महिला ने थाने में आरोपितों की शिकायत लेकर गई। वहां से उन्हें साइबर सेल भिजवा दिया गया। साइबर सेल प्रभारी राघवेंद्र सिंह का कहना है कि महिला की तहरीर के आधार पर मामले की जांच कर कार्रवाई जाएगी।

लाखों के गहनों पर कर दिया हाथ साफ

मेरठ: गली-मोहल्लों में घूमकर ताला-चाबी बनाने वाले दो युवकों ने फार्मा कंपनी के कर्मचारी की अलमारी से लाखों रुपये के गहने गायब कर दिए। दो दिन बाद उन्होंने लाकर खोला तो करीब साढ़े तीन लाख रुपये के गहने गायब थे। आरोपित गली में लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गए। पीडि़त ने आरोपितों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई है। ब्रह्मपुरी थाना क्षेत्र के भगवत चक्की वाली गली निवासी मनीष शर्मा फार्मा कंपनी में काम करते हैं। दो दिन पहले उन्होंने गली-मोहल्लों में ताला-चाबी बनाने वाले दो युवकों से अलमारी का लाकर ठीक कराया था। इसी बीच उन्होंने अपनी बातों में फंसाकर लाकर में डालने के लिए सरसों का तेल मंगाया। जैसे ही वह तेल लेने रसोई में गए। उसी समय आरोपितों ने लाकर से एक मंगल सूत्र, चार अंगूठी, कान के बूंदे व पैंडल समेत करीब साढ़े तीन लाख रुपये के गहने चोरी कर लिए। आरोपित दो दिन बाद लाकर खोलने की बात बोलकर चले गए। रविवार सुबह मनीष ने अलमारी का लाकर खोला तो गहने गायब देखकर उनके होश उड़ गए। उन्होंने परिवार के अन्य सदस्यों से गहनों के बारे में पूछताछ की, उन्होंने जानकारी होने से इन्कार कर दिया।

पुलिस जल्‍द करेगी गिरफ्तार

सीओ ब्रह्मपुरी अमित राय का कहना है कि आरोपितों की फुटेज को कब्जे में ले लिया गया है, उसी आधार पर उनकी पहचान के प्रयास किए जा रहे हैं। उनकी धरपकड़ के लिए टीम लगा दी गई है। जल्द ही उन्हें गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

Edited By: Prem Dutt Bhatt