मेरठ। धनपुरा तोफापुर गांव के संपर्क मार्ग पर सोमवार दोपहर बदमाशों से पुलिस की मुठभेड़ हो गई। इसमें 15 हजार के इनामी बदमाश के पैर में गोली लग गई। घायल बदमाश को मेडिकल में भर्ती कराया गया है। वहीं, घायल बदमाश की मां ने मुठभेड़ पर सवाल खड़ा किया है। कहा कि पुलिस ने उसके बेटे को रास्ते में से उठा लिया और जंगल में ले जाकर गोली मार दी। बदमाश के कब्जे से 315 बोर का तमंचा, दो कारतूस व चोरी की बाइक भी बरामद हुई।

एसपी देहात राजेश कुमार ने बताया एसएसआइ रविचंद्रवाल साथी सिपाही आदेश पुंडीर, सतेंद्र चौहान के साथ सोमवार दोपहर करीब एक बजे गांव धनपुरा तोफापुर मार्ग पर गश्त कर रहे थे। इसी बीच सूचना मिली की बाइक सवार दो बदमाश मुशाहिद पुत्र बसीर व उसका साथी वहाब निवासीगण ग्राम सौंदत वारदात की फिराक में घूम रहे हैं। टीम ने घेराबंदी कर पकड़ने का प्रयास किया। बदमाशों ने रुकने की बजाए फाय¨रग शरू कर दी। जिसमें जवाबी कार्रवाई में मुशाहिद के पैर में गोली लग गई। उसका साथी फरार हो गया।

इनामी बदमाश खरखौदा थाना क्षेत्र के गांव अल्लीपुर में हुई गोकशी में शामिल रहा था। इंस्पेक्टर राजेंद्र त्यागी ने बताया कि पकड़ने के लिए कई दबिश दी थी, लेकिन हत्थे नहीं चढ़ रहा था। उधर, वह हापुड़ से लूट समेत कई मामलों में शामिल रहा है। परीक्षितगढ़ में भी उस पर कई मुकदमे दर्ज है।

एफआइआर पर भड़के विवि के छात्र: चौ. चरण सिंह विवि परिसर स्थित सर छोटूराम इंजीनिय¨रग इंस्टीट्यूट में तोड़फोड़ करने वाले छात्रों पर एफआइआर दर्ज किया गया है। सोमवार को छात्रों ने इसके विरोध में प्रदर्शन किया। रजिस्ट्रार ज्ञान प्रकाश का घेराव किया। विवि में शनिवार को छात्रों ने सर छोटूराम में हंगामा करते हुए तोड़फोड़ की थी। विवि ने इसका संज्ञान लेते हुए पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष विजय सिंह राणा, सचिन चौधरी, विशाल चौधरी, दीपक, विवेक सिंह के खिलाफ एफआइआर दर्ज कराया था। सोमवार को इसके विरोध में छात्रों ने रजिस्ट्रार का घेराव किया। छात्रों का कहना था कि छात्रों की आवाज दबाने के लिए विवि प्रशासन छात्रों का शोषण कर रहा है। इसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

Posted By: Jagran