मेरठ, जागरण संवाददाता। लिसाड़ी गेट के लक्खीपुरा स्थित एक मकान में मिनी कमेला चलता मिला, जहां गोवंशीय पशुओं की हत्या की जा रही थी। पुलिस ने मकान पर छापा मारकर दो महिलाओं समेत तीन आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया। मौके से ढाई कुंतल से अधिक गोवंशीय मांस बरामद हुआ है। आरोपित का परिवार लगभग एक साल से यह अवैध धंधा कर रहा था।

यह है मामला

सीओ कोतवाली अरविंद चौरसिया ने बताया कि लिसाड़ी गेट थाना क्षेत्र के लक्खीपुरा में शुक्रवार सुबह छह बजे टीम ने रियाजुद्दीन के मकान पर दबिश दी। मकान में गोहत्या की जा रही थी। कुछ लोग तो फरार हो गए, जबकि पुलिस ने रियाजुद्दीन, उसकी पत्नी शबाना और मां साबरा को गिरफ्तार कर लिया। मौके से ढाई कुंतल से अधिक गोवंशीय मांस बरामद किया। अवशेष और औजार को भी जब्त कर लिया। तीनों के खिलाफ गोहत्या और पशु क्रूरता अधिनियम समेत संगीन धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया है। पूछताछ में आरोपित रियाजुद्दीन ने बताया कि करीब एक साल से मकान में गोहत्या कर रहा था। मांस को आसपास की दुकानों पर ही सप्लाई करता था।

दुकानदार के कहने पर शुरू किया अवैध धंधा

आरोपित रियाजुद्दीन ने पुलिस को बताया कि क्षेत्र में ही उसकी एक दुकान है, जिसे उसने मीट बेचने वाले को किराये पर दे रखा था। उसने बताया था कि गोवंशीय मांस की बिक्री में आर्थिक लाभ अधिक होता है। इसके चलते उसने यह काम शुरू कर दिया था।

 

Edited By: Taruna Tayal