मेरठ, जेएनएन। Fight Against Corona प्रधानमंत्री ने 21 दिन का लॉकडाउन घोषित किया है। अभी दो ही दिन बीते हैं, लोगों के लिए अनेक समस्या सामने आ रही है। किसी को अपने घर लौटने में परेशान उठानी पड़ रही है। किसी के घर में राशन तक नहीं है। लॉकडाउन का पालन कराने के लिए पुलिस की भूमिका क्या है? ऐसे में पुलिस को कितनी मशक्तत करनी पड़ रही है। क्योंकि ज्यादातर कॉल पुलिस के पास ही आ रहे है। उसके बाद बेवजह सड़कों पर घूम रहे लोगों को रोकने के लिए क्या प्रयास किए जा रहे है। पुलिस के एडीजी प्रशांत कुमार, आइजी प्रवीण कुमार और कप्तान अजय साहनी से बातचीत की गई। एसएसपी ने 9454458044 नंबर जारी किया है, जिस पर कॉल या वाट्सएप मैसेज करने के बाद राशन और खाना पुलिस मुहैया कराएगी।

डोर टू डोर बांटा जाएगा राशन और सब्जी

एडीजी प्रशांत कुमार ने बताया कि पहले तो पुलिस को भी सुरक्षित रखने की कवायद चल रही थी। इसके लिए जोन को करोड़ों का बजट दिया है। मेरठ में 15 लाख का बजट भेज दिया है, जिससे पुलिसकर्मी कोरोना से बचाव की सामग्री खरीदकर खुद को सुरक्षित रख सकें। उसके अलावा मोहल्लों में डोर-टू-डोर जाकर सब्जी और राशन वितरण को कमेटी बनाई जा रही है। ताकि किसी को भी घर से निकलना न पड़े। सभी जनपदों को इसके लिए भी आदेश दिया है। उसके साथ ही पुलिस भी गणमान्य लोगों की मदद लेकर लोगों को खाना वितरण करने में अहम भूमिका निभा रही है। सड़क पर बेवजह निकलने वालों पर सख्ती करने के आदेश दिए जा चुके है।

होम डिलीवरी पर फोक्स करें लोग

आइजी प्रवीण कुमार ने बताया कि लॉक डाउन को अभी दो दिन हुए है। हालांकि ज्यादातर लोग प्रधानमंत्री की अपील को स्वीकार कर घरों के अंदर रह रहे है। सभी जनपदों में व्यापार मंडल के लोगों से मीटिंग की गई है। ताकि लोगों को घर पर ही सभी सुविधा मुहैया कराई जा सकें। कुछ बिग बाजार समेत कई शॉप ने अपने नंबर भी होम डिलीवरी के लिए जारी किए है। दूध, सब्जी, राशन और अखबार के वितरण को पुलिस से सुनिश्चित कराने के आदेश दिए है। बाहर से पैदल चल कर आ रहे लोगों को उनके घर तक पहुंचाने के लिए पुलिस को कहा गया है। नोएडा और गाजियाबाद में कुछ लोगों को पुलिस पहुंचा भी चुकी है।

21 दिन तक गरीबों के घर पहुंचाएंगे खाना

एसएसपी अजय साहनी ने बताया कि दो दिनों में पुलिस के यूपी-112 और थानों पर आई कॉल में सामने आया कि लोग राशन और खाने की वजह से ज्यादा परेशान है। इसलिए घर के अंदर नहीं रह पा रहे है। इसे ध्यान में रखने हुए पुलिस की तरफ से 9454458044 नंबर जारी किया गया है, जिस पर कॉल करने के बाद गरीबों को खाना और राशन उनके घर पर पहुंचाया जाएगा। जनपद में तीन स्थानों पर खाना तैयार होगा, जहां से लोगों के घर बना हुआ खाना और कच्चा राशन मुहैया कराया जाएगा। सभी थाना क्षेत्रों में ऐसी कालोनियों की लिस्ट तैयार कर ली गई है, जहां हर रोज 21 दिन तक पुलिस बना हुआ खाना भेजेगी। कच्चा राशन चाहिए तो वह भी मुहैया कराया जाएगा। एसएसपी ने लोगों से अपील की है, लेकिन अपने घरों से बाहर मत निकले। 

Posted By: Prem Bhatt

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस