मेरठ, जेएनएन। मवाना क्षेत्र में कोरोना वायरस कहर ढा रहा है। सीएचसी पर गुरुवार को हुई कोरोना की जांच रिपोर्ट में 75 लोग संक्रमित निकलने से सीएचसी पर हड़कंप मच गया। स्वास्थ्य विभाग द्वारा संक्रमितों को होम क्वारंटाइन कर बचाव के लिए जारी गाइडलाइन के पालन की हिदायत दी गई है।

कोरोना महामारी की दूसरी लहर में पहले के मुकाबले लोग ज्यादा संक्रमित निकल रहे हैं। गुरुवार को सवा दो सौ मरीजों की कोरोना जांच के लिए सैंपल लिए गए थे। जिनकी शुक्रवार को आई जांच रिपोर्ट में मवाना में 75 से लोग संक्रमित निकले, जबकि लगभग दो सौ लोग पहले ही संक्रमित होने के कारण होम क्वारंटाइन चल रहे हैं।

देहात में भी कम नहीं कोरोना के रोगी : गत वर्ष कोरोना काल में देहात के गांवों में संक्रमित नहीं निकले थे, लेकिन महामारी की यह दूसरी लहर से गांव भी अछूते नहीं हैं। फलावदा व क्षेत्र के गांव नंगला हरेरू, पिलोना, छोटा मवाना, गांव तिगरी, जंधेड़ी, खेड़ी, नंगला काटर, ततीना, रहावती, फिटकरी, ढिकोली, बहादरपुर, दांदूपपुर, अस्सा इत्यादि गांवों कोरोना संक्रमित रोगी निकल चुके हैं। सीएचसी से जानकारी के मुताबिक अकेले अस्सा में करीब 40 रोगी है जो होम क्वारंटाइन चल रहे हैं।

वायरल फीवर के रोगी भी कम नहीं : पिछले कई दिन से कभी गर्मी तो कभी बारिश से मौसम में नरमी हो जाती है। कोरोना के अलावा बदमिजाज मौसम की वजह से भी लोग वायरल फीवर व खांसी-जुकाम की गिरफ्त में आ रहे हैं। घर-घर में वायरल फीवर के रोगी भी हैं। सीएचसी पर जांच कराने व टीकाकरण के लिए पंजीकरण कक्ष पर पर्चा बनवाने के लिए लंबी लाइन नजर आती है।

मौसम बदलने से नजला व वायरल फीवर के रोगियों की संख्या बढ़ी है। फिर भी एहतियात बरतने की जरूरत है। इस बीच दूसरों से दूर रहे और अपने को सुरक्षित रखने के प्रति भी जागरूक किया जा रहा है। अगर कोरोना के लक्षण दिखाई दें तो तुरंत जांच कराएं।

-सतीश भास्कर, सीएचसी प्रभारी।