मेरठ, जेएनएन। खरखौदा में गत 28 जून को हापुड़ रोड स्थित 44वीं वाहिनी पीएसी से इंसास रायफल चोरी करने वाले सिपाही फिरोज पहले भी वारदात में लिप्त रहा है। गत वर्ष फिरोज ने पीएसी में तैनात एक सिपाही का एटीएम कार्ड चुराकर कैराना में करीब चार लाख रुपये की खरीदारी की थी। मामले में कैराना पुलिस जांच कर रही है।

आरोपित सिपाही अभी पकड़ से दूर

इंसास चोरी करने वाला सिपाही बड़ौत निवासी फिरोज ट्रेनिंग में सीतापुर होने के कारण अभी पुलिस की पकड़ से दूर है। पुलिस का कहना है कि उसे वारंट लेकर जल्द उसकी गिरफ्तारी की जाएगी। पुलिस ने अभी तक की जांच के आधार पर बताया कि रातोंरात करोड़पति बनने की इच्छा रखने वाले वाले फिरोज का यह पहला मामला नहीं है। मार्च 2018 में फिरोज ने 44वीं वाहिनी पीएसी में ही साथी सिपाही रामपाल सिंह का एटीएम कार्ड चोरी करके कैराना से करीब चार लाख की खरीदारी की थी। इस मामले में मुकदमा दर्ज है। कैराना पुलिस मामले की जांच-पड़ताल कर रही है।

गब्बर को भेजा जेल

44वीं वाहिनी पीएसी में कमांड हाउस के पास से चोरी हुई इंसास के मामले में पुलिस ने आरोपित सिपाही के भाई गब्बर को जेल भेज दिया है।

इनका कहना है

इंसास चोरी के मामले में आरोपित सिपाही फिरोज बेहद शातिर है। साथी सिपाही काएटीएम कार्ड चोरी कर चार लाख की खरीदारी में उसपर कैराना में मुकदमा दर्ज है।

- मनीष बिष्ट, इंस्पेक्टर खरखौदा

एटीएम कार्ड चोरी में मुकदमा दर्ज है। मामले में गंभीरता से जांच चल रही है। जल्द जांच करके मामले का राजफाश किया जाएगा। फिरोज का नाम विवेचना में शामिल है।

- यशपाल राणा, इंस्पेक्टर 

Posted By: Prem Bhatt

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस