मेरठ, जेएनएन। मवाना में तीन स्थानों पर रामलीला का आयोजन होता है, लेकिन अभी तक नगर में रामलीला आयोजन को स्थिति असमंजस की बनी हुई है। उधर, प्रशासन ने भी अभी रामलीला आयोजन की अनुमति नहीं दी है। भीड़ पर पाबंदी के चलते कोरोना काल की तरह इस बार रामलीला की सूक्ष्म कार्यक्रम व दशहरा पर रावण का पुतला दहन होने की बात सामने आ रही है।

दो स्‍थान में होता रहा है आयोजन

भगवान श्रीरामलीला कमेटी के तत्वाधान में रामलीला मंचन दो स्थानों पर होता रहा है। जिसमें राम वनवास से पूर्व की लीला नगर पालिका के पास भगवान श्रीरामलीला रंगमंच पर और बनवास के बाद की लीला किला बस स्टैंड के पास भूड़ के मैदान में होती है। श्राद्ध आरंभ होने से पूर्व शिव बरात के साथ लीला का मंचन होने लगता था लेकिन इस बार कोविड की तीसरी संभावित लहर के चलते अभी भगवान श्रीराम रामलीली कमेटी तथा अन्य दोनों कमेटियों की ओर से अभी रामलीला का कोई कार्यक्रम सार्वजनिक नहीं किया है। माना जा रहा है कोरोना काल की भांति इस बार भी एक दो दिन का सूक्ष्म कार्यक्रम व पुतला दहन होगा।

इन्‍होंने बताया...

भगवान श्रीरामलीला कमेटी के अध्यक्ष कैलाश चंद कौशिक का कहना है कि रामलीला मंचन का कोई कार्यक्रम नहीं बना है। इस बार भी दोनों रामलीला रंगमंच पर सुंदर कांड का पाठ व उसके बाद दशहरा पर पुतला दहन किया जाएगा। गुड़मंडी शिव मंदिर रामलीला कमेटी के पदाधिकारी अजय अग्रवाल ने भी ऐसे ही संकेत दिए हैं।

 

Edited By: Taruna Tayal