मेरठ : उत्तर प्रदेश के कृषि उत्पादन आयुक्त डा. प्रभात कुमार ने सरदार वल्लभ पटेल कृषि एवं प्रौद्योगिक विवि में आयोजित मेरठ-सहारनपुर मंडल की रबी उत्पादकता विषय पर आयोजित गोष्ठी की अध्यक्षता करते हुए कहा कि किसान हमारी सोच का हिस्सा है। इनका जीवन स्तर ऊंचा उठाने के लिए मुख्यमंत्री गंभीर हैं। खाद्यान उत्पादन तो बढ़ा, मगर उनका जीवन स्तर उस अनुपात में नहीं उठ पाया। योजनाओं में भ्रष्टाचार नहीं होना चाहिए। किसान दिवस को ज्यादा सक्रिय करना होगा। जिलाधिकारी कम से कम एक दिन किसानों की समस्या सुनें। बैंक की ओर से होने वाली दिक्कतों को दूर किया जाए। सीडीओ किसानों के लिए सलाह केंद्र स्थापित करें। उन्होंने 'जय जवान, जय किसान, जय विज्ञान' नारे का जय नौजवान जोड़कर विस्तार किया। आय बढ़ाने के लिए करें दुग्ध उत्पादन : बोबडे

प्रमुख सचिव पशुधन सुधीर एम. बोबडे ने कहा कि सरकार किसानों के उत्थान के लिए नई तकनीक का सहारा ले रही है। किसानों की आय बढ़ाने के लिए दुग्ध उत्पादन बेहतर विकल्प है। किसान खेती के साथ इसे भी अपनाएं तो उनकी आय निश्चित तौर पर बढ़ेगी। प्रत्येक जिले में गौशाला स्थापित करने के लिये 49 करोड़ रुपये की स्वीकृति दी गई है। प्रदेश के 68 जिलों में 50-50 लाख की प्रथम किश्त भी दी जा चुकी है। ¨हडन पुनर्जीवन कार्य में जोडें़गे दो हजार गांव : मंडलायुक्त

मंडलायुक्त मेरठ अनीता सी मेश्राम ने कहा कि ¨हडन के पुनर्जीवन के लिए कार्य चल रहा है। इसमें दो हजार गांवों को शामिल किया जाएगा। मंडलायुक्त सहारनपुर ने कहा कि गन्ने की फसल के पूरी खपत के लिए हमें अन्य स्त्रोतों पर भी विचार करना होगा। उन्होंने लेमन ग्रास व जड़ी बूटी की खेती को बढ़ावा देने के लिये कहा। कृषि निदेशक सौराज ¨सह, उद्यान निदेशक आरपी ¨सह, विवि के कुलपति प्रो. गया प्रसाद, अपर आयुक्त (बैं¨कग) सहकारिता ने किसानों को विपणन नीति, फसल बीमा योजना, पशुधन बीमा योजना, जैविक खाद का प्रयोग, मिट्टी स्वास्थ्य आदि के विषय भी जानकारी दी। डीएम हापुड़ अदिति ¨सह, बागपत ऋषिरेंद्र कुमार, गौतमबुद्धनगर बीएन ¨सह, बुलंदशहर अनुज झा, मुजफ्फरनगर राकेश शर्मा, शामली इंद्र विक्रम ¨सह, सीडीओ हापुड़ दीपा रंजन, गाजियाबाद रमेश रंजन सहित दोनों मंडल से आए अधिकारी व किसान उपस्थित रहे।

Posted By: Jagran