मेरठ, जेएनएन। विकास भवन सभागार में आयोजित आजादी का अमृत महोत्सव कार्यक्रम में गुरुवार को खेल, युवा एवं पंचायत राज मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) उपेंद्र तिवारी पहुंचे। मंत्री ने यहां स्वच्छता की सीख देने के साथ जन सहभागिता से जन आंदोलन शुरू करने पर जोर दिया। साथ ही स्वच्छता की शपथ भी ग्रहण कराई। इससे पहले मंत्री ने शहीद स्मारक पहुंचकर पुष्प अर्पित किए।

कार्यक्रम में मंत्री ने कहा कि आजादी की 75वीं वर्षगांठ के अवसर पर पूरे देश में अमृत महोत्सव का आयोजन किया जा रहा है। 15 अगस्त 2023 को इसका समापन होगा। मंत्री ने विपक्ष पर कटाक्ष करते हुए कहा कि पहले भी दो अक्टूबर का दिन हर साल आता था। लेकिन तब कोई प्रधानमंत्री ऐसा करने की हिम्मत नहीं कर सकता जैसा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किया। स्वच्छता के लिए महा अभियान शुरू किया और इसका असर भी नजर आने लगा है। अब हर घर में लोगों को स्वच्छता का मतलब समझ में आने लगा है। मंत्री ने बुआ और बबुआ कहते हुए तंज कसा कि आगामी विधान सभा चुनाव में जनता इन्हें पहले की तरह से ही नकार देगी। मंत्री ने सभागार में मौजूद युवा मंगल दल, नेहरू युवा केंद्र, सरकारी कर्मचारियों आदि को स्वच्छता की शपथ भी ग्रहण कराई। कार्यक्रम से पहले मंत्री शहीद स्मारक पर भी पहुंचे और यहां पुष्प अर्पित किए। कार्यक्रम में जिला पंचायत अध्यक्ष गौरव चौधरी, सीडीओ शशांक चौधरी, डीडीओ दिग्विजय नाथ तिवारी, डीपीआरओ रेनू श्रीवास्तव आदि मौजूद रहे।

बिजली गई तो सपा-बसपा को बताया जिम्मेदार

कार्यक्रम में मंत्री के संबोधन के दौरान अचानक बिजली चली गई। जिस पर मंत्री ने सपा और बसपा को इसके लिए जिम्मेदार ठहराते हुए बताया कि पूर्व की सरकारों ने जर्जर तार नहीं बदलवाए। जिस कारण फाल्ट होते हैं और बिजली चली जाती है।

घंटों परेशान रहे बच्चे

अमृत महोत्सव कार्यक्रम में शामिल होने के लिए युवक मंगल दल, नेहरू युवा केंद्र आदि से जुडे़ छात्रों व बच्चों को बुलाया गया था। बच्चे सुबह 11 बजे से ही सभागार में पहुंच गए और शाम चार बजे के बाद तक रहे। इस दौरान उन्हें पीने के लिए पानी तक उपलब्ध नहीं कराया जा सका। जिस कारण वह परेशान रहे।

Edited By: Jagran