मेरठ,जेएनएन। नगर निगम सफाई बेड़े को मजबूत करने जा रहा है। पांच बाबकेट मशीन समेत सफाई से संबंधित कई वाहन खरीदे जाएंगे। 15वें वित्त आयोग की मंडलीय समिति ने इसे हरी झंडी दे दी है। इनकी खरीदी के लिए टेंडर निकालने की तैयारी शुरू हो गई है।

बाबकेट मशीन छोटे साइज की होती है। यह एक तरह से रोबोटिक मशीन होती है। जिसके द्वारा नालों के कचरे को आसानी से निकालकर ट्रालियों में भरा जाता है। यह मशीन काफी उपयोगी साबित हो सकती है। क्योंकि मेरठ शहर में छोटे-बड़े 341 नाले हैं। जिनमें 14 नाले तो इतने चौड़े और गहरे हैं कि मशीन नाले में उतारी जा सकती है। बाबकेट मशीन से लाभ यह होगा कि सड़क पर नाले की सिल्ट की गंदगी नहीं फैलेगी। एक मशीन की कीमत लगभग 25 लाख रुपये है। पांच मशीनें खरीदने पर नगर निगम लगभग 1.25 करोड़ रुपये खर्च करेगा। इसके अलावा पांच आरसी कांपेक्टर ट्रक खरीदे जाएंगे। यह ट्रक स्थायी रूप से रखे बड़े कूड़ेदान को आटो लिफ्ट कर डंपिग ग्राउंड में ले जाकर कचरे को पलटता है और फिर से बड़े कूड़ेदान को वापस लाकर उसी स्थान पर रख देता है। एक तरह से बड़े कूड़ेदान में एकत्र कचरे का उठान नियमित हो सकेगा। एक आरसी कांपेक्टर ट्रक की कीमत 33 लाख है। पांच ट्रक 1.66 करोड़ में खरीदे जाएंगे। इसी तरह तीन डीपी कांपेक्टर ट्रक खरीदे जाएंगे। 100 बड़े कूड़ेदान खरीदे जाएंगे। जो शहर के प्रमुख स्थानों पर रखे जाएंगे। इस पर लगभग 20 लाख रुपये खर्च होगा। करीब 50 छोटे कूड़ेदान भी खरीदे जाएंगे। सी एंड डी वेस्ट के उठान के लिए 12 खुली गाड़ियां खरीदी जाएंगी। इनसे मृत पशुओं का उठान भी किया जा सकेगा। करीब 90 लाख रुपये इनकी खरीदी में खर्च होंगे।

Edited By: Jagran