मेरठ : कंकरखेड़ा के दायमपुर में बुधवार रात चौकीदार की हत्या पाकिस्तानी पिस्टल से की गई थी। पुलिस ने शुक्रवार को दो हत्यारोपितों को गिरफ्तार कर हत्याकांड का राजफाश किया है। आरोपितों से पाकिस्तान निíमत 32 बोर पिस्टल और एक तमंचा बरामद हुआ। आरोपितों को जेल भेजकर पुलिस अब इस जांच में जुट गई है कि हत्यारों के पास से पाकिस्तानी पिस्टल आखिर आई कहां से ।

बुधवार रात एक बजे रामकिशन कॉलेज की छत पर सो रहा था। इसी दौरान चार नकाबपोश बदमाशों ने उसकी गोली मारकर हत्या कर दी थी। पैर में गोली लगने से उसकी पुत्रवधू भी घायल हुई थी। नकदी व जेवर लूटकर बदमाश भाग गए थे। मौके पर एक बदमाश का वोटर कार्ड भी बरामद हुआ था, जो दायमपुर निवासी सोनू पुत्र सतवीर का था। शुक्रवार को पुलिस ने सरधना पुल के पास से दायमपुर निवासी सोनू और सचिन पुत्र रतन को दबोचा। दोनों हरिद्वार भागने की फिराक में थे। सचिन से पिस्टल, दो कारतूस तथा सोनू से तमंचा, एक कारतूस बरामद हुआ है। सचिन ने बताया कि उसने 30 हजार रुपये में पिस्टल दिल्ली निवासी अपने दोस्त से खरीदी थी। आरोपितों ने गन्ने के रस का ठेला लगाने के झगड़े का बदला लेने के लिए चौकीदार की हत्या करना स्वीकार किया है।

साहूकार हत्याकांड़ में भी सचिन है नामजद

सात अप्रैल 2017 को रोहटा रोड पर टेंपो में सवार साहूकार की हत्या हो गई थी। हत्या में सचिन व उसके दो दोस्त जेल गए थे। सचिन पिछले महीने ही जमानत पर छूटा है। सोनू के परिजन गन्ने के रस का ठेला लगाते हैं और वह बीए की पढ़ाई कर रहा है। सोनू का कहना है कि उसके नाम का वोटर कार्ड है। लेकिन कार्ड कभी उसके पास आया ही नहीं तो मौके पर कैसे गिर सकता है।

हत्याकांड़ में दो आरोपित गिरफ्तार किए हैं। उनसे पाकिस्तान निíमत पिस्टल और मुंगेर निíमत तमंचा बरामद हुआ है। फरार आरोपित भी जल्द ही पकड़े जाएंगे। रिमांड लेकर आगे की पूछताछ की जाएगी।

- दीपक शर्मा, इंस्पेक्टर कंकरखेड़ा

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस