मेरठ, जागरण संवाददाता। CCSU Meerut News मेरठ में चौधरी चरण सिंह विवि की ओर से सत्र 2021-22 के लिए स्नातक प्रथम वर्ष में पांच अक्टूबर तक मेरिट जारी करने की तैयारी है। स्नातक प्रथम वर्ष में बीए, बीकाम, बीएससी सहित तमाम कोर्स में प्रवेश के लिए आनलाइन पंजीकरण 27 सितंबर तक चलेंगे। इनके आधार पर विवि की ओर से पांच अक्टूबर तक किसी भी समय पहली मेरिट जारी की जा सकती है। बीए-एलएलबी और बीकाम-एलएलबी में पंजीकरण 27 के बाद भी जारी रहेंगे। इन विषयों के अलावा स्नातक प्रथम वर्ष के अन्य विषयों में प्रवेश लेने के इच्छुक जिन छात्रों ने अब तक पंजीकरण नहीं कराया है वह 27 सितंबर तक आनलाइन पंजीकरण कर सकते हैं।

परास्नातक के पंजीकरण 25 से

सीसीएसयू परिसर एवं संबद्ध कालेजों में संचालित परास्नातक एलएलबी तीन वर्षीय कोर्स के साथ सभी सर्टिफिकेट एवं डिप्लोमा पाठ्यक्रमों में सत्र 2021-22 में प्रवेश के लिए 25 सितंबर से आनलाइन पंजीकरण शुरू हो रहे हैं। छात्र सीसीएसयू की वेबसाइट पर इस बाबत जारी लिंक पर आनलाइन पंजीकरण करा सकेंगे। पंजीकरण के लिए जरूरी कागजातों को छात्र पहले से तैयार रख सकते हैं।

वाह्य छात्रों को कालेजों में माइग्रेशन जमा करना अनिवार्य

चौ. चरण सिंह विवि की अधिसूचना के अनुसार वाह्य बोर्ड या विश्वविद्यालय से पढ़कर सीसीएसयू में प्रवेश ले रहे हैं उन्हें प्रवेश के समय माइग्रेशन सर्टिफिकेट कालेज में जमा करना अनिवार्य है। कालेजों द्वारा निर्धारित समय में छात्रों के माइग्रेशन सर्टिफिकेट परीक्षा फार्म के साथ विवि के कुलसचिव के समक्ष प्रेषित करना अनिवार्य है। इस संबंध में विवि ने गुरुवार को छात्र हित को ध्यान में रखते हुए कुछ सुधारों के साथ दिशा-निर्देश जारी किए हैं। अब वाह्य छात्र प्रवेश के समय कालेज में माइग्रेशन सर्टिफिकेट की मूल प्रति, कंप्यूटर जनरेटेट या डिजिलाकर से प्रिंट लेकर जमा करा सकते हैं। कालेजों को तिथि से एक महीने के भीतर छात्र का माइग्रेशन विवि कुलसचिव कार्यालय तक पहुंचाना है।

देरी पर लगेगा प्रति सर्टिफिकेट विलंब शुल्क

एक महीने के भीतर यदि माइग्रेशन सर्टिफिकेट विवि में जमा नहीं होते हैं तो प्रवेश दो महीने तक प्रति माइग्रेशन सर्टिफिकेट 250 रुपये विलंब शुल्क के साथ माइग्रेशन कुलसचिव कार्यालय में जमा करा सकेंगे। इसके बाद माइग्रेशन जमा कराने पर प्रवेश से तीन महीने बाद तक कुलपति की अनुमति से 500 रुपये विलंब शुल्क के साथ माइग्रेशन जमा करा सकते हैं। जिन छात्रों के प्रवेश के तीन महीने के भीतर विवि को माइग्रेशन सर्टिफिकेट नहीं मिलेगा उन्हें परीक्षा में बैठने की अनुमति नहीं मिलेगी।

प्राइवेट के लिए भी अनिवार्यता

इसी तरह वाह्य बोर्ड या विवि के छात्रों को भी प्रवेश के समय माइग्रेशन सर्टिफिकेट जमा कराना अनिवार्य है। पंजीकरण केंद्र उन्हीं छात्रों के परीक्षा फार्म आनलाइन वेरिफाई करेंगे, जिनके माइग्रेशन जमा होंगे। यदि बिना माइग्रेशन जमा कराए कोई छात्र परीक्षा में शामिल हो जाता है तो उनका रिजल्ट जारी नहीं होगा और वह अगली कक्षा में प्रवेश के योग्य नहीं होंगे। माइग्रेशन सर्टिफिकेट सीधे विवि में जमा नहीं होंगे। कालेज ही छात्रों से माइग्रेशन लेकर विवि कुलसचिव कार्यालय में जमा कराएंगे। 

Edited By: Prem Dutt Bhatt