मेरठ, जेएनएन। CCSU Admission चौधरी चरण सिंह विवि और उससे जुड़े कालेजों में स्नातक प्रथम वर्ष में प्रवेश की प्रक्रिया चल रही है। कोविड के चलते प्रवेश में देरी हो रही है। दो मेरिट के बाद स्नातक में एक लाख 90 हजार सीटों में से केवल 60 हजार सीटों पर प्रवेश हुआ है। गुरुवार को विवि की ओपन मेरिट जारी हुई है, जिसमें 70 हजारअभ्यर्थियों की मेरिट है। ओपन मेरिट के बाद कालेजों में आफर लेटर भी जमा होने शुरू हो गए हैं। प्रवेश के लिए आफर लेटर जमा करने वाले छात्रों में प्रवेश के साथ पढ़ाई की भी चिंता सताने लगी है। इस बीच विवि ने साफ कर दिया है कि छात्र आनलाइन और आफलाइन दोनों तरीके से पढ़ सकेंगे।

31 अक्टूबर तक जमा होंगे

कालेजों में आफर लेटर 31 अक्टूबर तक जमा होंगे। शहर के कई कालेजों में आफर लेटर भी आनलाइन कालेज की वेबसाइट पर अपलोड हो रहे हैं। इसकी वजह से बहुत से छात्र साइबर कैफे के माध्यम से आफर लेटर अपलोड कर रहे हैं। हालांकि कुछ कालेज आनलाइन और आफलाइन दोनों तरीके से आफर लेटर जमा कर रहे हैं। डीएन कालेज में आफलाइन आफरलेटर जमा किए गए। 30 अक्टूबर को कालेज बंद रहेंगे। इसलिए छात्रों को आनलाइन ही आफरलेटर जमा करने होंगे। एक नवंबर को कालेज आफर लेटर के आधार पर विवि की ओपन मेरिट से मिलान करने के बाद मेरिट निकालेंगे। जिससे दो नवंबर से चार नवंबर तक प्रवेश लिए जाएंगे।

कालेजों में आनलाइन लेटर अपलोड

एनएएस कालेज और मेरठ कालेज में आनलाइन आफर लेटर अपलोड किए जा रहे हैं। एनएएस कालेज की वेबसाइट पर इसके विषय में पूरी जानकारी दी गई है। बहुत से छात्र वेबसाइट पर आफर लेटर अपलोड नहीं कर पा रहे हैं। कुछ छात्रों ने साइबर कैफे से पंजीयन कराया था, जिसमें उनकी कटेगरी बदल गई है, ओबीसी की जगह सामान्य वर्ग आ गया है। कुछ छात्रों ने बताया कि उनके फार्म में ईडब्लूएस आ गया है। जबकि उनके पास ईडब्लूएस का सर्टिफिकेट नहीं है।

बंद हो जाएगा पोर्टल

मेरठ कालेज ने ओपन मेरिट के लिए अपनी वेबसाइट पर लिंक दिया है। अभ्यर्थियों को आनलाइन एडमिशन पर क्लिक करना है। फिर ओपन मेरिट पर आवेदन करना है। रजिस्ट्रेशन नंबर और कैप्चा डालकर सबमिट करेंगे। इसके बाद आफर लेटर आएगा, जिसे आनलाइन सबमिट करने के बाद मैसेज आ जाएगा। 31 अक्टूबर के बाद पोर्टल बंद हो जाएगा। एक नवंबर को कालेज की वेबसाइट पर मेरिट आएगी। जिससे छात्र प्रवेश ले सकेंगे।

सिलेबस नहीं होगा कम, अतिरिक्त कक्षाएं चलेंगी

चौ. चरण सिंह विवि की प्रतिकुलपति प्रो. वाई विमला का कहना है कि स्नातक प्रथम वर्ष में दीपावली तक प्रवेश हो जाएंगे। स्नातक के पाठ्यक्रम के लिए भी बहुत से ई कंटेंट तैयार कराए गए हैं। छात्र आनलाइन और आफलाइन दोनों तरीके से पढ़ सकेंगे। स्नातक प्रथम वर्ष का सिलेबस कम नहीं किया जाएगा। कोर्स पूरा करने के लिए कालेज अतिरिक्त कक्षाएं चला सकेंगे। कोर्स को देखकर ही अगले सत्र की परीक्षाओं की तिथि भी आगे बढ़ाई जा सकती है। इसलिए छात्रों को कोर्स या पढ़ाई को लेकर चिंता करने की जरूरत नहीं है।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस