मेरठ,जेएनएन। सीबीएसई की कक्षा 10वीं व 12वीं की बोर्ड परीक्षा चल रही है। 15 फरवरी से शुरू हुई दोनों परीक्षाओं के कई महत्वपूर्ण पेपर हो चुके हैं और कई अभी बाकी भी हैं। ऐसे में सोशल मीडिया और यूट्यूब पर इन दिनों विभिन्न विषयों के पेपर लीक होने संबंधी वीडियो व सूचनाएं खूब घूम रहे हैं। यूट्यूब पर बकायदा कुछ लोगों ने पेपर भी दिखा रखे हैं और उसे आगामी तिथि पर होने वाली परीक्षा का मूल पेपर बता कर लोगों से वीडियो सब्सक्राइब कराया जा रहा है। ऐसे लोगों पर नजर रख रही सीबीएसई की निगरानी टीम ने कई लिंक चिन्हित किए हैं। चिन्हित लिंक को सीबीएसई ने वेबसाइट पर जारी करते हुए परीक्षार्थियों और परिजनों को सावधान रहने संबंधी दिशा निर्देश जारी किए हैं।
सीबीएसई ने दर्ज कराई एफआइआर
इसके साथ ही सीबीएसई की ओर से दिल्ली पुलिस को भी लिखित में एफआईआर दर्ज कराई गई है जिससे वह परीक्षा से संबंधित कुछ भी गलत जानकारी जारी करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जा सके। पुलिस की ओर से यूट्यूब के साथ ही सोशल मीडिया के अन्य माध्यमों पर बोर्ड परीक्षा से संबंधित जुड़ी जानकारियों पर नजर रखी जा रही है। सीबीएसई ने स्पष्ट किया है कि जो भी पेपर सोशल मीडिया पर लीक पेपर बताए जा रहे हैं,वह असल में पूरी तरह से फेक है। सीबीएसई की टीम लगातार ऐसे सभी लिंक को खोल रही है और उनका मिलान पेपरों से कर रही है। जारी लिंक्स पर दिए जा रहे पेपर से बोर्ड परीक्षा का कोई लेना देना नहीं है। बोर्ड परीक्षा के पेपर के फॉर्मेट को कॉपी कर किसी तरह का एक लिंक तैयार कर लिया गया है और पेपर को पूरी तरह से ओरिजिनल बताते हुए परीक्षार्थियों से यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब कराया जा रहा है। एक पेपर पर भी अगर हजारों लोग सब्सक्राइब कर देते हैं तो लिंक जारी करने वालों की कमाई हो जाती है। ऐसे में सीबीएसई ने विशेष तौर पर परीक्षार्थियों से ऐसे सभी लिंक से दूरी बनाने की सलाह दी है जिससे बोर्ड परीक्षा के दौरान वह विचलित ना हो।
अलग-अलग विषय के पेपर का है दावा
सीबीएसई की ओर से जारी यूट्यूब लिंक में कक्षा 12वीं की इंग्लिश,फिजिक्स,अकाउंटेंसी,केमेस्ट्री,ज्योग्राफी आदि विषयों की परीक्षा के पेपर लीक होने का दावा किया जा रहा है। इसके साथ ही दसवीं में अंग्रेजी विज्ञान और गणित के सर्वाधिक लिंक जारी किए गए हैं। लिंक जारी करने वालों ने वीडियो में दावा किया है कि यह पेपर 2019 की बोर्ड परीक्षा से संबंधित है। इनमें कुछ पेपर हो चुके हैं जबकि कुछ इसी महीने होने वाले हैं। ऐसे सभी वीडियो के लिंक जारी कर सीबीएसई ने परीक्षार्थियों को आगाह किया है कि जिससे इन लिंग पर दिखाई गई जानकारी को वह कतई सच ना माने। परीक्षार्थी व परिजन सीबीएसई की वेबसाइट पर इस जानकारी के साथ सभी लिंक को देख सकते हैं जिससे उनके भीतर कोई असमंजस की स्थिति ना रहे।
पहले भी कर चुके आगाह
सीबीएसई की ओर से साल 2019 की बोर्ड परीक्षा शुरू होने के पहले से ही ऐसे किसी भी अफवाह से सतर्क रहने को कहा जा रहा है। इसीलिए सीबीएसई ने पहली बार देश भर के स्कूलों,परीक्षार्थियों व परिजनों तक सीधे संवाद पहुंचाने के लिए ऑनलाइन वार्तालाप किया था। इसके बाद बोर्ड परीक्षा शुरू होने के पहले भी परीक्षार्थियों व परिजनों को ओपन लेटर में सीबीएसई ने कई अहम जानकारी देते हुए उन्हें किसी भी अफवाह से दूर रहने और पेपर मुहैया कराने संबंधी किसी भी झांसे में आने से आगाह किया था। इसके बाद भी समय-समय पर लगातार सीबीएसई की ओर से नए दिशानिर्देश जारी किए जा रहे हैं। पूरी परीक्षा पर नजर बनाए हुए सीबीएसई की टीम ने ऐसी अफवाहों को खोज निकालने के लिए परिजनों व शिक्षकों से भी मदद मांगी है। जिसे भी कहीं भी ऐसी तरह की कोई सूचना,वीडियो, व्हाट्सएप पर वायरल मैसेज मिले वह सीबीएसई को मुहैया करा सकता है।
इनका कहना है
परीक्षा बहुत ही सुचारु रूप से चल रही है। इसमें किसी भी तरीके से पेपर लीक होने की संभावना नहीं है। अगर कोई पेपर लीक होने या पेपर देने की बात करता है तो वह अफवाह के सिवा और कुछ नहीं हो सकता। इसीलिए सीबीएससी बार-बार लोगों को आगाह कर रही है जिससे जिससे लोग ऐसे अफवाह फैलाने वालों के चक्कर में नहीं पड़े और परीक्षार्थी अपने परीक्षा पर ही ध्यान दें। शहर में भी हम सभी स्कूलों को और परिजनों को यही बताते रहे हैं जिससे परीक्षा के दौरान कोई पैनिक ना हो।
- एचएम रावत,सिटी कोर्डिनेटर,सीबीएसई 

Posted By: Ashu Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस