सहारनपुर, जागरण संवाददाता। विवाहिता की संदिग्ध परिस्थितियों में हुई मृत्यु के मामले में दस महीने बाद पुलिस ने अदालत के आदेश पर आरोपित पति समेत अन्य ससुरालियों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज किया है।

यह है मामला

रामपुर मनिहारान निवासी पूजा का विवाह देवबंद कोतवाली क्षेत्र के गांव झबीरण निवासी सुमित के साथ हुआ था। दस मार्च 2021 को पूजा की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई थी। विवाहिता की मौत के बाद ससुरालियों ने उसका अंतिम संस्कार करा दिया था। वहीं, मृतका पूजा के स्वजन ने भी उस समय कानूनी कार्रवाई से इन्कार कर दिया था। जिसके बाद सुमित ने दूसरा विवाह कर लिया था। लेकिन करीब तीन माह बाद गांव के ही प्रमोद नामक व्यक्ति ने मृतका पूजा की ससुरालियों द्वारा हत्या करने का आरोप लगाते हुए न्यायालय का दरवाजा खटखटाया था। अदालत में साक्ष्य प्रस्तुत करते हुए प्रमोद ने बताया था कि सुमित का भाई सुनिल उसके घेर में बैठता है और उस ने एक दिन बातों बातों में पूजा की हत्या कर देने की बात कही थी। इसी मामले में न्यायालय ने साक्ष्यों के आधार पर शनिवार को विवाहित की हत्या में आरोपित बनाए गए पति सुमित समेत सुनील, नरेंद्र, चंद्रवती और नीरज के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर जांच करने के निर्देश पुलिस को दिए हैं। कोतवाली प्रभारी प्रभाकर केंतुरा ने बताया कि न्यायालय के आदेश पर मुकदमा दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी गई है। जांच उपरांत कानूनी कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।

पशुशाला में अलाव ताप रहे बुजुर्ग की मौत

सहारनपुर, जागरण संवाददाता। थाना मिर्जापुर क्षेत्र के गांव शफीपुर में एक बुजुर्ग की जलकर मौत हो गई। यह बुजुर्ग ठंड से बचने के लिये पशुशाला में अलाव ताप रहा था। जिससे अचानक आग लग गई और यह आग की चपेट में आ गया। ग्रामीणों ने बड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया और उसे बाहर निकाला। तब तक उसकी मौत हो गई थी

जानकारी के अनुसार जीत सिंंह पुत्र कुंदन शनिवार की दोपहर घर के पास बनी पशुशाला में ठंड से बचाव के लिए अलाव ताप रहे थे। इसी बीच अचानक पशुशाला में आग लग गई और यह आग की लपटों में घिर गया। इसके चिल्लाने पर ग्रामीणों की भीड़ एकत्र हुई और आग पर काबू पाने का प्रयास किया। जब तक ग्रामीण आग पर काबू पाते तब तक यह बुरी तरह जल चुका था। ग्रामीणों ने आग बुझने के बाद उन्हें बाहर निकाला और चिकित्सक के यहां ले गए। जहां चिकित्सक ने उसे मृत घोषित कर दिया। बुजुर्ग की मौत से गांव में शोक की लहर है। बाद में सूचना पर दमकल मौके पर पहुंची और भूसे आदि में सुलग रही आग बुझाई। पुलिस ने शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। मौके पर पहुंचे एसडीएम रामजीलाल व सीओ रामकरण ङ्क्षसह ने घटना के बारे में जानकारी की एसडीएम ने बताया कि पीडि़त परिवार को सरकार की ओर से देवीय आपदा बजट से 4 लाख रुपए सहायता राशि दी जाएगी।

 

Edited By: Parveen Vashishta