मेरठ । बुराई पर अच्छाई की जीत का प्रतीक विजयदशमी पर्व श्रद्धा और उल्लास के साथ मनाया जाएगा। शहर में कई स्थानों पर भगवान श्रीराम युद्ध के मंचन के बाद रावण, कुंभकर्ण और मेघनाद का पुतला दहन करेंगे। वहीं इस बार पंचक लगे होने के कारण कुछ स्थानों पर पांच पुतलों का दहन किया जाएगा। श्री रामलीला कमेटी, मेरठ छावनी के अध्यक्ष पवन गर्ग ने बताया कि भैंसाली मैदान पर अस्वच्छता और भ्रष्टाचार के पुतलों का दहन भी किया जाएगा।

भैंसाली मैदान, रामलीला ग्राउंड, सूरजकुंड आदि स्थानों पर दशहरा मेला का आयोजन होगा। श्रीराम-रावण युद्ध का मंचन व बुराई के प्रतीक रावण आदि के पुतले देखने के लिए लोग पहुंचते हैं। राम-रावण युद्ध व पुतला दहन का तरीका भी सभी जगह अलग-अलग होगा। भैंसाली मैदान में श्रीराम-रावण युद्ध होगा और रिमोट से रावण का पुतला दहन किया जाएगा। जिमखाना मैदान की श्रीरामलीला के युद्ध का मंचन दिल्ली रोड स्थित रामलीला ग्राउंड में होगा। यहां श्रीराम जलते हुए तीर छोड़ेंगे। जो रावण की नाभि पर लगे चक्र में जाकर लगेगा और धू-धू कर रावण का पुतला जल उठेगा।

सड़कों पर बिके पुतले

कई सालों में कॉलोनी के लोगों ने चंदा आदि इकट्ठा कर पुतले लगाने की परंपरा शुरू की है। इसी को देखते हुए गढ़ रोड पर पुतले बिकते नजर आए। शहरवासी बाजार में तैयार पुतले खरीदकर ले जाते हैं और दहन करते हैं।

इन जगहों पर होता है रावण दहन

-छावनी स्थित भैंसाली मैदान

-रजबन फुटबॉल ग्राउंड

-दिल्ली रोड रामलीला ग्राउंड

-सूरजकुंड बाबा मनोहर नाथ मंदिर

- पुराना के-ब्लॉक शास्त्री नगर

- मार्शल पिच, कंकरखेड़ा

- जेलचुंगी चौराहा

भैंसाली मैदान

रावण - 110 फुट

कुंभकर्ण - 100 फुट

मेघनाद - 90 फुट

पुतला दहन का समय : 10:00 बजे

खास बात- रावण इस बार घोड़ों वाले रथ पर सवार होकर युद्ध की मुद्रा में नजर आएगा।

मेला : यहां मेला भी लगता है।

रजबन - फुटबॉल मैदान

रावण - 60 फुट

कुंभकर्ण - 55 फुट

मेघनाद - 50 फुट

पुतला दहन का समय : 9:30 बजे

खास बात -मुंह और आंख से चिंगारी निकलेंगी। आंख पूरी तरह से लाल और भयानक दिखाई देगी।

मेला : यहां मेला लगता है।

दिल्ली रोड रामलीला ग्राउंड

रावण - 90 फुट

पुतला दहन का समय : 9.00 बजे

खास बात : दशहरे के दिन सिर्फ यहां रावण का पुतला फूंका जाता है। पेट की चकरी घूमती रहेगी। आतिशबाजी का नजारा भी आकर्षण का केंद्र रहेगा।

मेला : यहां मेला भी लगता है।

पुराना के -ब्लॉक, शास्त्रीनगर

रावण - 36 फुट

पुतला दहन का समय : 9 बजे

खास बात - हाथ में तलवार और चिंगारी निकलेगी। यह आकर्षण का केंद्र रहेगी।

मेला - यहां विशाल मेला लगाया जाता है।

जेलचुंगी मैदान

रावण - 50-55 फुट

पुतला दहन का समय : 10.30 बजे

मेला : यहां काफी बड़ा मेला लगता है। झूला आदि भी होता है।

सूरजकुंड

रावण - 100 फुट

कुंभकर्ण - 75 फुट

मेघनाद - 60 फुट

पुतला दहन का समय : 9.30 बजे

खास बात : रिमोट से पुतला दहन किया जाएगा। आतिशबाजी देखने लायक रहेगी।

कंकरखेड़ा मार्शल पिच

रावण - 65 फुट

कुंभकर्ण - 66 फुट

मेघनाद - 55 फुट

पुतला दहन करने का समय - 9:45 बजे

दशहरा पूजन का समय

दशहरा पर अस्त्र-शस्त्र और लेखा-बही का पूजन किया जाता है। पूजन का समय दोपहर में 12:02 बजे से 12:39 तक और शाम के समय 5:46 से 6:46 तक रहेगा।

Posted By: Jagran